RSS के खिलाफ टिप्पणी करने पर देश द्रोह का केस, गिरफ्तार हो सकती है Hard Kaur

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक बातें लिखने वाली सिंगर हार्ड कौर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है.

वकील शशांक शेखर त्रिपाठी ने थाना कैन्ट में पुलिस को इस मामले में तहरीर दी. तहरीर के मुताबिक इस पोस्ट से आम जनमानस की भावना को ठेस लगी है. शशांक की तहरीर पर कैन्ट पुलिस ने धारा 153 A 124 A 500, 505 व 66 आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है. 124 A देशद्रोह से जुड़ी धारा है.

शिकायतकर्ता के मुताबिक उन्होंने न सिर्फ अपनी पोस्ट में आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया है बल्कि जिन लोगों ने पोस्ट पर कमेंट किए हैं उनके जवाब में भी हार्ड कौर ने गालियां लिखी हैं. जहां अधिकतर लोगों ने हार्ड कौर को कोसा है वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने उनके इस स्टैंड की तारीफ की है.

दर असल पंजाबी रैप सिंगर हार्ड कौर ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत को आतंकवादी करार दिया था. उन्होंने अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम अकाउंट पर 26/11 हमले में आतंकवादी हमले में मारे गए हेमंत करकरे से जुड़ी एक किताब (Who killed Karkare) के फ्रंट पेज की तस्वीर के साथ लिखा है कि यह आरएसएस ने किया है.

इसके अलावा उन्होंने आरएसएस प्रमुख को न सिर्फ जातिवादी करार दिया है. उन्होंने देश में 26/11 मुंबई अटैक या पुलवामा आतंकवादी हमले जैसी बड़ी आतंकी घटनाओं  के लिए भी उन्हें और आरएसएस को ही जिम्मेदार ठहराया है.

हार्ड कौर ने सीएम योगी की एक तस्वीर शेयर कर उनके खिलाफ भी अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया है. इसके साथ ही उन्होंने गौरी लंकेश मर्डर पर कमेंट किया है. सिंगर की इन पोस्ट्स पर सोशल मीडिया यूजर्स उन्हें जमकर ट्रोल कर रहे हैं. ट्रोलर्स ने जब उनकी विरोध दर्ज करने के लिए उनकी पोस्ट पर कमेंट्स किए तो हार्ड कौर ने उन्हें भी नहीं बख्शा और उनके खिलाफ भी अभ्रद भाषा का इस्तेमाल किया. हार्ड कौर का मानना है कि वो इंडिया की पहली रैपर महिला हैं.