2019 से पहले दंगा फैलाने की कोशिश में गिरफ्तार लोगों को ज़मानत, केस वापसी की उम्मीद

गुरुग्राम : जैसे जैसे चुनाव नज़दीक आ रहे हैं देश में दंगे फैलाने की कोशिश हो रही है. हाल में दिल्ली से सटे गुरुग्राम में नमाज के दौरान कुछ लोगों ने हंगामा किया और नमाज से लोोगों को रोका. इस मामले में गिरफ्तार 6 लोगों को जमानत मिल गई है. इन 6 अभियुक्तों के समर्थन में हिन्दू संगठन 30 अप्रैल को प्रदर्शन करने वाले हैं. 20 अप्रैल को गुरुग्राम के सेक्टर 53 में कुछ मुस्लिम नमाज पढ़ रहे थे, तभी 6 हिन्दू युवक वहां पहुंच कर जय श्री राम और राधे-राधे चिल्लाने लगे. इन लोगों ने नमाज पढ़ रहे लोगों को यहां से चले जाने को कहा. इस मामले में सेक्टर-53 के एसएचओ अरविंद दहिया ने कहा कि गुड़गांव की एक अदालत ने आरोपियों को जमानत दे दी है.

इन लोगों को बेल मिलने के बावजूद हिन्दू संगठनों ने सोमवार को प्रदर्शन करने का फैसला किया है. इनकी मांग है कि आरोपियों के खिलाफ केस वापस ली जाए और सेक्टर-53 में खुले में नमाज पढ़ने पर रोक लगाई जाए. बजरंग दल के जिला अध्यक्ष अभिषेक गौर ने इस मामले पर कहा, “हमारी दो मांगो अभी भी बरकरार है, चूंकि अभी सिर्फ हमारे लोगों को बेल देने की मांग पूरी हुई है, इसलिए सोमवार को प्रस्तावित हमारा विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा.” इस मामले में पुलिस ने जिन आरोपियों को गिरफ्तार किया था उनके नाम सार्वजनिक हो चुके हैं. इनके नाम हैं- अरुण, मनीष, दीपक, मोनू उर्फ नंबरदार, मोहित और रविंदर के रूप में की गई है. ये सभी आरोपी वजीराबाद और कन्हाई गांव के निवासी हैं.

माना जा रहा है इस विरोध प्रदर्शन में कई हिन्दू संगठन शिरकत कर सकते हैं. जानकारी के मुताबिक इस विरोध प्रदर्शन में शिवसेना, अखिल भारती हिन्दू क्रांति दल, हिन्दू सेना और स्वदेशी जागरण मंच के नेता-कार्यकर्ता शिरकत कर सकते हैं. इन संगठनों ने अपने मकसद के लिए संयुक्त हिन्दू संघर्ष समिति नाम का एक संगठन बनाया है. रिपोर्ट के मुताबिक प्रदर्शनकारी कमला नेहरु पार्क के पास सुबह 10 बजे के करीब इकट्ठा होंगे और मिनी सचिवालय की ओर मार्च करेंगे. यहां पर ये लोग डिप्टी कमिश्नर को अपनी मांगों से जुड़ा पत्र सौंपेंगे. बता दें कि इस घटना की कई संगठनों ने कड़ी निंदा की थी और पुलिस से इस मामले में आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की थी.

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.