गाज़ियाबाद बना देश का सबसे प्रदूषित शहर, दूसरे तीसरे नंबर पर भी एनसीआर

अब तो दिल्ली में पूरे साल रुक रुक कर प्रदूषण बना ही रहता है. हालात ये हैं कि दिल्ली से सटा गाज़ियाबाद आज देश का सबसे प्रदूषित शहर बन गया. इसकी एक वजह मेरठ एक्सप्रेसवे पर चल रहा निर्माण भी है जिसमें प्रदूषण से बचने की प्रक्रिया नहीं अपनाई जा रही.

प्रदूषण बोर्ड के आंकड़ों के मुताबिक गाजियाबाद सोमवार को देश का सबसे प्रदूषित शहर रहा. शहर का एक्यूआई 384 दर्ज किया गया. जबकि कई दिनों से पहले नंबर पर चल रहा लोनी देहात के प्रदूषण स्तर में थोड़ी कमी आई. लोनी का प्रदूषण स्तर 371 एक्यूआई (एयर क्वालिटी इंडेक्स) दर्ज किया गया. देश में सबसे प्रदूषित इलाकों की सूची में लोनी देहात दूसरे और नोएडा तीसरे स्थान पर रहा.

गाजियाबाद शहर का प्रदूषण स्तर पिछले कई दिनों से रेड जोन में है. सोमवार को भी शहर की हवा बेहद जहरीली रही. गाजियाबाद शहर का एक्यूआई 384 दर्ज किया गया. शहर के अन्य इलाकों पर नजर डालें तो वसुंधरा का एक्यूआई सबसे ज्यादा रहा. यहां का एक्यूआई 392 दर्ज किया गया. यहां पर पीएम 10 का स्तर 462 और पीएम 2.5 करीब 164 दर्ज हुआ. इंदिरापुरम में एक्यूआई 373 तक पहुंच गया. यहां पर पीएम 10 का स्तर 473 और पीएम 2.5 का स्तर 173 रहा.

वहीं संजय नगर में एक्यूआई 387 दर्ज किया गया. पीएम 10 का स्तर 522 और पीएम 2.5 का स्तर 215 दर्ज हुआ. लोनी देहात के प्रदूषण स्तर में कुछ कमी आई. यहां पर एक्यूआई 371 तक रहा, जो कि पहले 400 से ऊपर चल रहा था. यहां पर पीएम 10 का स्तर 512 और पीएम 2.5 का स्तर 197 दर्ज किया गया. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़े देखे जाएं तो गाजियाबाद प्रदूषित शहरों की सूची में पहले और लोनी देहात दूसरे नंबर पर रहा.

शहर                 प्रदूषण का स्तर
गाजियाबाद       384
लोनी देहात         371
नोएडा                347
फरीदाबाद         346
हापुड़               336

नोट : आंकड़े एक्यूआई में हैं.