गावस्कर की गुगली को झेल पाएंगे मोदी, आसान नहीं होगा फैसला

राजनीति के भक्तिकाल का असर सब जगह दिखाई दे रहा है. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर भी इस असर से अछूते नहीं है. उन्हें पाकिस्तान के भावी प्रधानमंत्री इमरान खान की ओर से शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का निमंत्रण मिला मिला तो गावस्कर दुविधा में पड़ गए. अगर वो पाकिस्तान जाते हैं तो गद्दार और देश द्रोही कहलाने का खतरा है. नहीं जाते हैं तो दोस्त से गद्दारी होगी. लेकिन गावस्कर ने डेनिस लिली की बॉल की तरह ही इमरान के न्यौते को खूबसूरत दिसा में मोड़ दिया है.

इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक सुनील गावस्कर ने कहा है कि ‘मुझे इमरान खान के शपथ समारोह का न्योता मिला है. इमरान की पार्टी की तरफ से उन्हें फोन आया था. लेकिन अभी तक उनके शपथ समारोह की डेट फिक्स नहीं हुई है. जब डेट फिक्स होगी तो आधिकारिक निमंत्रण आएगा.’ इसके साथ ही गावस्कर ने सरकार को भी संकट में डाल दिया है. उन्होंने कहा कि वो सरकार की इजाजत के बगैर वहां नहीं जाएंगे. जाने से पहले सरकार से पूछेंगे. जाहिर बात है ऐसे करके वो तीखी प्रतिक्रियाओं से बच जाएंगे.

गावस्कर ने कहा कि ‘भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरे टेस्ट मैच की व्यस्तता के कारण मेरा जाना मुश्किल है. इसके अलावा मैं भारत सरकार से भी अनुमति और सलाह लेना चाहूंगा. उसके बाद ही कोई फैसला लूंगा. सरकार अनुमति देगी तो मैं जा सकता हूं.’

आपको बता दें कि पूर्व भारतीय ओपनर नवजोत सिंह सिद्धू ने इमरान के शपथ समारोह में जाने की बात कही थी. उन्होंने इसको पर्सनल न्योता करार दिया. सिद्धू ने इस दौरान इमरान की जमकर तारीफ की थी.

वहीं कपिल देव ने भी कहा था कि मुझे आमंत्रित किया गया है, लेकिन लिखित में नहीं. मुझे उनकी टीम का फोन आया था, लेकिन मुझे अभी तक कोई मेल नहीं मिला है. मैं आधिकारिक निमंत्रण का इंतजार कर रहा हूं. अगर मुझे आधिकारिक न्योता मिलता है तो मैं जाऊंगा.

गौरतलब है कि इमरान खान के शपथ समारोह का न्योता पूर्व भारतीय क्रिकेटर कपिल देव, सुनील गावस्कर और नवजोत सिंह के अलावा बॉलीवुड स्टार आमिर खान को मिला है. पाकिस्तान में हाल ही में हुए आम चुनाव में इमरान खान की पार्टी पीटीआई 116 सीटों पर जीत हासिल कर सबसे बड़ी पार्टी बनी है. बता दें कि इमरान खान के भारतीय क्रिकेटों के साथ अच्छे रिश्ते रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.