केजरीवाल की इस तस्वीर को आप पहचानते हैं. पढ़िए पूरी स्टोरी

केजरीवाल की हर हरकत पर नज़र है. मीडिया से ज्यादा नजर विरोधियों की रहती है. सबसे ताज़ा मामला उनकी बैंगलौर यात्रा और एचडी कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने और उस दौरान बने होटल के लंबे चौड़ बिल का है. बिल 1 लाख 85 हज़ार रुपये का था.

एक शख्स ने आरटीआई डाली और सबके खर्च का हिसाब पता कर लिया. इसके बाद दो दिन से भाजपा समर्थक ट्रोल और ट्वीटर एक्टिविस्ट #DaarubaazKejri ट्रेंड करा रहे हैं. इसके साथ ही ये फोटो भी ट्रेंड हो रहा है. अब आपको बताते हैं इस फोटो की कहानी साथ में होटल का बिल भी यहां आपको देखने को मिलेगा.

ये फोटो अकाली दल के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने एक होर्डिंग में लगाया है. वो कह रहे हैं कि अरविंद केजरीवाल ने 80000 रुपए की दारू पी ली. बाथ टब में बैठकर बीयर पी रहे केजरीवाल की फोटो, शराब की बोतलों के बीच घिरे केजरीवाल की फोटो पता नहीं कितने फोटो बनाए गए और ट्वीट किए गए.

कर्नाटक में कांग्रेस के समर्थन से 23 मई को जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी मुख्यमंत्री पद की शपथ ले रहे थे. ये तब हुआ जब उनसे पहले कुछ दिन के लिए सीएम रहे बीजेपी के नेता बीएस येदियुरप्पा मुख्यमंत्री रहने के बावजूद अपना बहुमत साबित नहीं कर सके. इस शपथ ग्रहण में देश भर के तमाम बीजेपी और एनडीए विरोधी मुख्यमंत्री और नेता को न्योता गया था जिनमें दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल भी थे.

 

कर्नाटक में सरकार बनाने जा रही जेडीएस ने इन अतिथियों के रहने का इंतजाम बेंगलूरू के कुछ फाइव स्टार होटलों में किया जिनमें ताज होटल भी था. ताज होटल में अरविंद केजरीवाल के अलावा आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू, यूपी के पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव, आरजेडी नेता और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव, जेडीयू के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव, बसपा सुप्रीमो मायावती समेत कई नेताओं को ठहराया गया.

 

एक सज्जन ने कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार के दौरान लागू सूचना का अधिकार कानून का इस्तेमाल करके कर्नाटक के मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण में पहुंचे नेताओं पर सरकारी खर्च का हिसाब मांगा और सरकार ने हिसाब दिया जिसमें नंबर एक पर रहे आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू का टोटल बिल आया है 8.72 लाख. अगर आपको याद ना हो तो याद कर लें कि चंद्रबाबू नायडू ने बंगलोर पहुंचे तमाम विपक्षी नेताओं को लंच कराया था और उसकी फोटो सोशल मीडिया पर विपक्षी एकता के नाम पर वायरल हुई थी. इसलिए उनका बिल इतना ज्यादा आया.

चंद्रबाबू नायडू के बाद जिस नेता के होटल बिल की चर्चा हो रही है वो हैं आम आदमी पार्टी चलाने वाले पार्टी संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जिनका टोटल बिल आया है 1.85 लाख रुपया. बाकी बातें बाद में, सबसे पहले तो ये कि इनके कमरे का किराया टैक्स के साथ 32000 रुपया रोजाना था जिसमें वो दो दिन रुके. यानी कुल 64000 रुपये

 

अरविंद केजरीवाल बेंगलुरू के ताज होटल में 22 मई की रात 10 बजे के बाद पहुंचे और 24 मई की सुबह 5 बजे के आसपास निकल गए. सही टाइम आप होटल के बिल से चेक कर सकते हैं उनके दो दिन रहने का खर्च 64000 रुपया हो गया. बाकी बचा पैसा खान-पान का है. खान-पान में क्या-क्या शामिल है, ये आप नीचे बिल में देख सकते हैं. लेकिन अकेले केजरीवाल ने सवा लाख रुपये का क्या खा लिया ये बड़ा सवाल है.

बताया जा रहा है कि ज्यादातर खर्च फूड, जूस और एयरेटेड बेवरेज तीन कैटेगरी में हुआ. इस खर्च के बिल भी यहां इस खबर में हैं. आम आदमी पार्टी का कहना है कि इतना खर्च पर केजरीवाल पर अकेले नहीं हुआ. बल्कि उनके स्वागत में पहुंचे उनकी पार्टी या जेडीएस के नेताओं ने शिष्टाचार में उनके साथ खाया होगा.

कायदे की बात तो ये भी है कि एयरेटेड बेवरेज के नाम पर जो खर्चा दिखाया गया है उस दाम पर ताज जैसे फाइव स्टार होटल में शराब की ग्लास ना पकड़ने मिले.

 

आपका कहना है कि होटल वालों ने ही बिल में लिख दिया है कि इस बिल में शराब और लाउंड्री के खर्चे कर्नाटक सरकार नहीं देगी और बिल में कहीं भी शराब या शराब जैसी किसी भी चीज का जिक्र नहीं है.

 

ऐसे में दिल्ली विधानसभा में अकाली दल के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा जो अपनी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी हैं वो कैसे झूठ फैला सकते हैं और उस झूठ का होर्डिंग बनवा सकते हैं कि अरविंद केजरीवाल ने 80 हजार रुपए की शराब पी ली. बिल में एक भी जगह शराब या शराब जैसी किसी भी चीज का जिक्र तक नहीं है और सिरसा के साथ-साथ भाजपा समर्थक ट्रोल दो दिन से आसमान सिर पर उठाए हैं कि केजरीवाल ने 80 हजार रुपए की दारू पी ली.

इन्हें तो खबर भी तब लगी जब कर्नाटक सरकार का खर्च आरटीआई से सामने आया. सूचना और न्यूज का सोर्स तो ये आरटीआई है. इसमें तो कहीं भी शराब नहीं है तो अकाली विधायक सिरसा हों या उनके एनडीए की लीडर बीजेपी के समर्थक ट्रोल, ये सब शराब की बोतलें कहां से खोजकर लाए, ये बताने की जहमत भी कोई उठाएगा या फेक न्यूज की तरह फेक होर्डिंग बनवाकर केजरीवाल को दारूबाज ही बताएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.