लॉक डाउन में स्टेट बैंक की फेक ब्रांच खोली, तीन लोग गिरफ्तार

तमिलनाडु पुलिस ने एक गिरोह का पर्दाफाश करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. यह गिरोह बीते तीन महीने से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (state bank of India यानी एसबीआई की fake branch ब्रांच चला रहा था. गिरफ्तार किए गए तीन लोगों में एक पूर्व bank officer का बेटा भी शामिल है.

यह मामला तमिलनाडु के कुडलोर जिले के पनरुती शहर का है. पुलिस इंस्पेक्टर अंबेथकर ने इस मामले की पुष्टि की है. पुलिस इंस्पेक्टर के मुताबिक, इस गिरोह का मास्टरमाइंड कमल बाबू एक पूर्व बैंक अधिकारी दंपति का बेरोजगार बेटा है. कमल बाबू के पिता का दस साल पहले निधन हो गया था, जबकि उसकी मां 2 साल पहले ही एक बैंक से रिटायर हुई है. इसमें मामले में गिरफ्तार किया गया दूसरा व्यक्ति प्रिंटिंग प्रेस का मालिक है जो बैंक संबंधी रसीद, चालान और अन्य कागजात की छपाई करता था. तीसरा व्यक्ति रबर स्टांप बनाने का कार्य करता है.

ये भी पढ़ें :  गुजरात : सरकार बदलने के डर से फाइलें ठिकाने लगा रहे हैं अफसर, आईपीएस अफसर ने किया खुलासा

तीन महीने पुरानी इस फर्जी ब्रांच का खुलासा तब हुआ जब एक एसबीआई ग्राहक ने अपनी बैंक ब्रांच के मैनेजर को इसकी जानकारी दी. बैंक मैनेजर ने जोनल ऑफिस से इस ब्रांच के बारे में जानकारी मांगी. जोनल ऑफिस से बताया गया कि पनरुति शहर में एसबीआई की केवल दो ब्रांच हैं और तीसरी ब्रांच नहीं खोली गई है.

ये भी पढ़ें :  एक्जिट पोल पर के बाद हार्दिक पटेल ने दी ये राय, बोले ये सब पहले से पता था

इसके बाद एसबीआई के अधिकारियों ने उस फर्जी ब्रांच का दौरा किया. फर्जी ब्रांच का नजारा देखकर एसबीआई अधिकारियों के होश उड़ गए. इस फर्जी ब्रांच में पूरा असली ब्रांच जैसे सेटअप था. ब्रांच में असली ब्रांच जैसा पूरा सिस्टम और इंफ्रास्ट्रक्चर लगा हुआ था. इसके बाद एसबीआई अधिकारियों ने पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई. गनीमत यह रही कि पिछले तीन महीने में इस फर्जी ब्रांच से कोई ट्रांजेक्शन नहीं हुआ, जिस कारण कोई आर्थिक नुकसान नहीं हुआ है.