कोरोना से डरकर भारतीय संस्कृति वाली होली कैंसिल ? लोगों ने ली PM पर चुटकी

कहीं कोरोना वायरस न लग जाए. इसलिए पीएम मोदी ने इस बार होली मिलन समारोह में हिस्सा न लेने का फैसला किया है. बुधवार को पीएम मोदी ने ऐलान किया कि वह इस साल किसी भी होली मिलन समारोह में हिस्सा नहीं लेंगे. प्रधानमंत्री ने ये फैसला एक्सपर्ट्स की सलाह पर लिया है. कोरोना वायरस को लेकर किए गए ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिखा, ‘दुनियाभर में एक्सपर्ट्स ने सलाह दी है कि भीड़ वाले इलाकों में शामिल होने से बचें, ताकि कोरोना वायरस का असर ना फैल पाए. ऐसे में इस साल मैं किसी भी होली मिलन समारोह में हिस्सा नहीं लूंगा’.

उधर सोशल मीडिया पर लोगों ने चुटकी ली है. उन्का कहना है कि अस्थमा के मरीज मरें तो भी संस्कृति कि नाम पर दिवाली मननी चाहिए. पानी की बरबादी हो प्यास का संकट बढे तो होली होनी चाहिए क्योंकि इससे संस्कृति को खतरा है लेकिन पीएम को वायरस न लग जाए इसलिए होली नहीं मनेगी.

कुछ लोगों ने ट्वीट किया कि कोरोना वायरस मुसलमानों की तरह व्यवहार क्यों कर रहा है

बता दें कि हर साल होली के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कई कार्यक्रम में शामिल होते हैं. इस मौके पर वो आम लोगों के साथ पार्टी के कार्यकर्ता और मीडियाकर्मियों से मुलाकात करते हैं. पिछले कुछ वर्षों में ये कार्यक्रम भारतीय जनता पार्टी के कार्यालय में होता आया है.

रोल्फ गुजराती नाम के एक यूजर ने ट्वीट किया कि अब हिंदू होली भी नहीं मना सकते

वायरस के इस दौर में होली मिलन रद्द करने वालों में मोदी अकेले नहीं हैं. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर जानकारी दी है कि इस बार वो भी होली मिलन समारोह में शामिल नहीं होंगे. अमित शाह ने ट्वीट किया कि होली बहुत महत्वपूर्ण त्योहार है, लेकिन कोरोना वायरस को लेकर वह किसी होली मिलन समारोह में शामिल नहीं होंगे. मैं आपसे अपील करता हूं कि आप भी ऐसी जगह जाने से बचें जहां पर अधिक लोग हों.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी इस बार किसी होली मिलन में शामिल ना होने की बात कही है.

प्रशांत डूड नामके एक यूजर ने लिखा कि अगर ये बात किसी गैर बीजेपी ने कही होती तो क्या होता

आपको याद होगा कि पीएम मोदी ने मंगलवार को भी कोरोना वायरस को लेकर अपडेट दिया था. उन्होंने लोगों से कहा था कि वो घबराएं नहिं बस सावधानी बरतें इन साविधानियों का जिन्हें हर किसी को ध्यान में रखना चाहिए.
पीएम मोदी की ओर से कुछ सुझाव दिए गए थे, जिसमें कोरोना वायरस से निपटने के बारे में बताया गया था. इसमें लगातार हाथ धोना, एक-दूसरे से हाथ ना मिलाना जैसी बातों का ध्यान रखने को कहा गया है. इनमें समारोहों में जाने जैसी कोई बात नहीं कही गई थी.