कैरान चुनाव में ऐसे खेल दिखा रही हैं सूरत की ईवीएम मशीनें, निशाने पर मुस्लिम इलाके

नई दिल्ली : कैराना उपचुनाव से ईवीएम का नया खेल शुरू हुआ है . आरोप है कि कैराना में सूरत से खास तौर पर ईवीएम मंगाई गईं. ये ईवीएम मशीनें मुसलमान और दलितों के इलाकों में खराब हो रही है. मुस्लिम इलाकों में ईवीएम खराब होने का मतलब है उनके मतदान का कम हो जाना. दरअसल रमज़ान के महीने में लोग सुबह सुबह वोट डालकर निकल जाते हैं. भूखे प्यासे लोगों के लिए ये मुमकिन नहीं है कि वो मई जून की 46 डिग्री तापमान वाली धूप में खड़े रह सकें. दलितों और मुसलमानों में वैसे भी मेहनतकश गरीब होते हैं. वो ज्यादा देर तक वोट डालने के लिए रुकने की हैसियत नहीं रखते. जाहिर है ये वोटर जबतक ईवीएम ठीक होती है रुकेंगे नहीं और बिना वोट किए ही लौट जाएंगे.

ईवीएम की लगातार शिकायतें जारी हैं. समाजवादी पार्टी ने तो बाकायदा इस बारे में चुनाव आयोग से शिकायत की है. सपा का आरोप है कि हार के डर से बीजेपी ने ईवीएम के साथ छेड़छाड़ करवाई है. सपा ने चुनाव आयोग से शिकायत करते हुए दोनों ही जगह चुनाव रद्द कराने की भी मांग की है. दरअसल मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में वोटिंग कम करने की साजिश इसलिए हो सकती है क्योंकि मुसलमानों और दलितों के वोट बीजेपी को मिलने के आसार कम ही होते हैं.

कैराना लोकसभा से आरएलडी उम्मीदवार तबस्सुम हसन ने भी कहा- मेरे चुनाव को प्रभावित किया जा रहा है. स्थानीय प्रशासन दबाव में काम कर रहा है. दलित, मुस्लिम और जाट बहुल इलाकों में ईवीएम में गड़बड़ियां की जा रही हैं.

तबस्सुम ने आरोप लगाया कि हमारी जीत का अंतर कम करने की साजिश है. बाकी जगहों पर ईवीएम सामान्य चल रहे हैं. इस संबंध में उन्होंने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर शिकायत भी की है.

तबस्सुम हसन द्वारा चुनाव आयोग में की गई शिकायत में कैराना लोकसभा के तहत आने वाले गंगोह, नकुड़ और शामली विधानसभा क्षेत्र में बूथ स्थलों पर EVM के गड़बड़ी होने की शिकायत की गई है. ये क्षेत्र मुस्लिम और दलित बहुल माने जाते हैं.

तबस्सुम हसन द्वारा लगाए जा रहे आरोपों को बीजेपी उम्मीदवार मृगांका सिंह ने खारिज करते हुए कहा कि ऐसा नहीं है कि किसी विशेष इलाके EVM के खराब होने की बात हो. कैराना के कई जगह से EVM में गड़बड़ी की शिकायत आ रही हैं.

नूरपुर विधानसभा सीट पर आज मतदान हो रहे हैं. दोनों सीटों पर कई जगह बड़ी तादाद में ईवीएम के खराब होने की बात सामने आ रही है. इसे लेकर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट करके कहा कि शामली, कैराना, गंगोह, नकुड, थानाभवन और नूरपुर के लगभग 175 पोलिंग बूथों से EVM-VVPAT मशीन के ख़राब होने की शिकायत तुरंत सुनी जाए.

अखिलेश ने कहा कि उप चुनाव में जगह-जगह से EVM मशीन के ख़राब होने की ख़बरें आ रही हैं, लेकिन फिर भी अपने मताधिकार के लिए ज़रूर जाएं और अपना कर्तव्य निभाए.

सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि नूरपुर में करीब 140 ईवीएम ख़राब होने की सूचना है. यही हाल कैराना में भी है. ईवीएम में खराबी साजिश के तहत की गई है. उन्होंने कहा कि बीजेपी गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव में हार का बदला किसी भी सूरत पर लेना चाहती है.

सपा महासचिव रामगोपाल यादव ने चुनाव आयोग से शिकायत की है रामगोपाल यादव का कहना है कि कैराना के अधिकारी इस बात का संज्ञान नहीं ले रहे हैं. ईवीएम खराब होने से लोगों को काफी परेशानी हो रही है और जल्दी से जल्दी ईवीएम मशीन को ठीक करवाई जाए.