Coronavirus से बचना है आसान, ये खबर बताएगी रास्ता

दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कोरोना वायरस के 3 संदिग्ध मामले सामने आए हैं. तीनों को एक विशेष वार्ड में रखा गया है. गौरतलब है कि  मुंबई सहित देश के कई एयरपोर्ट में कोरोना वायरस से बचाव के लिए निगरानी बरती जा रही है. वहीं बिहार के छपरा में चीन से वापस लौटी एक लड़की को आईसीयू में भर्ती कराया गया है. न्यूज एजेंसी ANI से पटना मेडिकल कॉलेज के सुपरिटेंडेंट विमल कारक ने सोमवार बताया था कि कुछ लक्षणों को देखते हुए उसे छपरा में ही भर्ती कराया गया था और अब उसे पटना लाया जा रहा है.  उन्होंने बताया कि जब वह लड़की पटना मेडिकल कॉलेज में आ जाएगी तो उसके ब्लड जांच के लिए पुणे भेजा जाएगा.

इससे पहले चार अन्य यात्रियों के नमूनों के परीक्षण में भी यह विषाणु नहीं पाया गया था. आपको बताते हैं कि कोरोना वायरस के बारे में आपको कौन कौन सी बातें पता होनी चाहिए.

लक्षण

खांसी और कफ

गला खराब, बुखार

थकान और उल्टी महसूस होना,

निमोनिया,

नाक बहना

सिर में तेज दर्द

ब्रॉन्काइटिस

सांस लेने में तकलीफ

वायरस को फैलने से ऐसे रोकें

अपने हाथ और उंगलियों से आंख, नाक और मुंह को बार-बार न छूएं.

सार्वजनिक स्थानों, सार्वजनिक यातायात के साधनों में कुछ भी छूने या किसी से हाथ मिलाने से बचें.

बीमार मरीजों की सही तरीके से देखभाल की जाए.

सांस से जुड़ी बीमारी के लक्षण किसी में दिखें तो उससे दूर ही रहें.•       

 हाथों को अच्छी तरह से धोएं और हाथों की सफाई का पूरा ध्यान रखें.

खांसी या छींकते वक्त अपने मुंह और नाक को अच्छी तरह से ढककर रखें.

जिन देशों या जगहों पर इस बीमारी का प्रकोप फैला है, वहां यात्रा करने से बचें.

हाथों को अच्छी तरह से धोएं और हाथों की सफाई का पूरा ध्यान रखें.

खांसी या छींकते वक्त अपने मुंह और नाक को अच्छी तरह से ढककर रखें.

अपने हाथ और उंगलियों से आंख, नाक और मुंह को बार-बार न छूएं.

सार्वजनिक स्थानों, सार्वजनिक यातायात के साधनों में कुछ भी छूने या किसी से हाथ मिलाने से बचें.

कोरोना वायरस की वजह से रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट यानी श्वसन तंत्र में हल्का इंफेक्शन हो जाता है जैसा कि आमतौर पर कॉमन कोल्ड यानी सर्दी-जुकाम में देखने को मिलता है. हालांकि इस बीमारी के लक्षण बेहद सामान्य हैं और कोई व्यक्ति कोरोना वायरस से पीड़ित न हो तब भी उसमें ऐसे लक्षण दिख सकते हैं. इसलिए लक्षणों के आधार पर डरने की कोई जरूरत नहीं. फिर भी इसका ध्यान रखें.

वायरस के लक्षणों वाले लोग ( Coronavirus india ) भारत में मिलने से भी यहां हालात बदल रहे हैं Coronavirus बिहार तक पहुंच चुका है. इसलिए ये लक्षण और अहम हो जाते हैं.