पीएम मोदी को बम से उड़ाने की साजिश, चिट्ठी से खुला राज़

भारत की धरती पर प्रधानमंत्री मोदी को बम से उड़ाने की प्लानिंग चल रही है. इस साजिश में शामिल कुछ लोग पकड़े गए हैं. पुणे पुलिस ने  शुक्रवार को कोरे-गांव हिंसा मामले से संबंध रखने वाले पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस का दावा है कि गिरफ्तार लोगों के नक्सलवादी संगठन भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) से संबंध हैं. पुलिस को आरोपियों में से एक के घर से एक चिट्ठी मिलने का दावा किया है जिसमें इस बात का जिक्र है कि माओवादी  ‘एक और राजीव गांधी हत्याकांड’ की योजना बना रहे हैं.

अभियोजन पक्ष ने अदालत को बताया कि दिल्ली में रोना विलसन के घर से मिली चिट्ठी में एम-4 राइफल और गोलियां खरीदने के लिये आठ करोड़ रुपये की जरूरत की बात लिखी है. साथ ही उसमें ‘एक और राजीव गांधी हत्याकांड’ का जिक्र किया गया है.

बरामद चिट्ठी में लिखा है, “पीएम मोदी का पूरे देश में बढ़ता दायरा हमारी पार्टी के लिए हर लिहाज से बड़ा खतरा है. मोदी लहर का फायदा उठाते हुए बीजेपी देश के 15 से ज्यादा राज्यों में अपनी सरकार बनाने में सफल रही है. ऐसे में हमें पीएम मोदी के खात्मे को लेकर सख्त कदम उठाने ही होंगे. हम सोच रहे हैं कि राजीव गांधी हत्याकांड की तरह इसे भी अंजाम दिया जाए ताकि देखने में यह आत्महत्या या दुर्घटना जैसा लगे. एक और राजीव गांधी हत्याकांड को अंजाम देने के लिए पीएम के रोड शो को टार्गेट किया जा सकता है.”

 

पुलिस ने दिसंबर में एलगार परिषद और इसके बाद जिले में भीमा-कोरेगांव हिंसा से संबंधित दलित कार्यकर्ता सुधीर धावले, वकील सुरेंद्र गाडलिंग, कार्यकर्ता महेश राउत, शोमा सेन और रोना विलसन को मुंबई, नागपुर एवं दिल्ली से गिरफ्तार किया था.

 

कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया के जेनरल सेक्रेटरी सीताराम येचुरी ने प्रधानमंत्री मोदी की हत्या की साजिश को लेकर मिले पत्र प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि देश की सुरक्षा एजेंसिया देश के नेताओं की सुरक्षा करने में सक्षम है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.