पब्लिक ने सिंधिया को दिखाए काले झंडे, पत्थर भी फेंके

सिंधिया के बीजेपी में जाने पर बीजेपी में जितना उत्साह है उससे ज्यादा गुस्से में कांग्रेस समर्थक हैं. वो किसी भी हद तक ‘विभीषण’ सिंधिया को दंडित करना चाहते हैं. कल सिंधिया नामांकन भरने के लिए जब सिंधिया जा रहे थे तो अचानक उनके काफिले को रोक लिया और काले झंडे दिखाए. हालात से विचलित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाकायदा बयान दिया कि सिंधिया पर पत्थर फिंक रहे हैं.  उन्होंने कहा कि गुस्साए लोगों ने शुक्रवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया के काफिले पर जानलेवा हमले की कोशिश की गई. 

चौहान ने दावा किया कि भोपाल शहर के कमला पार्क इलाके में सिंधिया की कार रोकने की कोशिश की गई और उनके काफिले पर पथराव किया गया. हालांकि, पुलिस ने पथराव की घटना से इनकार किया है और कहा कि सिंधिया को काले झंडे दिखाये गये. सिंधिया यहां शहर में एक कार्यक्रम में शामिल होने के बाद भोपाल हवाई अड्डा जा रहे थे.

भाजपा के स्थानीय नेता राजेंद्र गुप्ता ने बताया कि सिंधिया को काले झंडे दिखाये जाने और उनके काफिले पर कथित रूप से जनता के पत्थर फेंकने की घटना के सिलसिले में मामला दर्ज कराने के लिए वह श्यामला थाना पहुंचे हैं.

उधर श्यामला हिल्स पुलिस थाने के सब इंस्पेक्टर बी पी सिंह ने बताया कि सिंधिया को आज शाम सात बजे के आसपास काले झंडे दिखाये जाने के मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ शासन की तरफ से मामला दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा, ‘‘उन पर (सिंधिया पर) पथराव नहीं किया गया है.’’ सिंह ने बताया कि भाजपा कार्यकर्ता इस मामले में शिकायत दर्ज कराने पहुंचे और पथराव होने का भी आरोप लगा रहे हैं, लेकिन पथराव नहीं हुआ है.

चौहान ने कहा कि भीड़ के गुस्से के बीच सिंधिया के वाहन चालक ने बमुश्किल वहां से गाड़ी निकाली. उन्होंने कहा, ‘‘आम आदमी की बात छोड़िए, जब पूर्व केंद्रीय मंत्री सिंधिया पर जानलेवा हमले का प्रयास किया जा सकता है तो फिर आप कल्पना कर सकते हैं कि प्रदेश की स्थिति कैसी है?’’ पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘मैं स्तब्ध हूं. प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह से समाप्त हो चुकी है. अराजकता का माहौल है.’’

चौहान ने कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस नीत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि बहुमत खो चुकी सरकार बौखलाहट में हमले करवा रही है. उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस हमले की निंदा करता हूं और पुलिस प्रशासन से अपील करता हूं कि जो भी दोषी हैं उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए.’’ चौहान ने कहा कि भाजपा के कार्यकर्ता सिंधिया पर हुए हमले के सिलसिले में पुलिस के पास प्राथमिकी दर्ज कराने गए हैं.