बंगाल के बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या में बंजरंग दल वाले 11 गिरफ्तार

पुरुलिया : बंगाल पुलिस ने बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या के आरोप में बीजेपी समर्थक बजरंग दल के 11 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है. कार्यकर्ता की हत्या पुरुलिया जिले के डाभा गांव में हुई थी जहां एक उसका का शव पोल से लटकता मिला था. इससे पहले बलरामपुर के पढ़िह गांव के पास जंगल में एक पेड़ पर 18 वर्षीय त्रिलोचन महतो का शव पाया गया था वह भी बीजेपी का कार्यकर्ता था. इन हत्याओं के बाद सोशल मीडिया पर इसे ये कहकर प्रचारित किया जा रह था कि हत्या के पीछे ममता बैनर्जी का हाथ है. पर अब इस मामले में जैसे ही 11 बजरंगदल के लोगों को गिरफ्तार किया गया है. मामले की जांच सीआईडी कर रही है.

इसमें कोई शक नहीं कि बंगाल में कानून व्यवस्था की हालत खराब है लेकिन ये मामला चौकाने वाला है क्योंकि बजरंगदल के लोगों पर अपनी ही पार्टी की कार्यकर्ता की हत्या का मामला दर्ज हुआ है . इतना ही नहीं इसके बाद उसका प्रचार करके राजनैतिक माइलेज लेने की कोशिश भी हुई. पश्चिम बंगाल के बीजेपी प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने इस घटना का वीडियो ट्वीट करते हुए कहा, ‘हम शर्मिंदा हैं, शायद प्रजातंत्र भी शर्मिंदा है. भाजपा ने दोनों भाजपा कार्यकर्ताओं की रहस्यमय तरीके से हुई मौत की जांच सीबीआई से कराने की भी मांग की.

ममता के बंगाल की कानून व्यवस्था का अंदाज़ा इसी से लगाया जा सकता है कि पश्चिम बंगाल में कुछ दिन पहले पंचायत चुनाव के दौरान हिंसा हुई थी इस हिंसा में एक वामपंथी नेता को परिवार सहित घर में जिंदा जलाकर मार डाला था. पश्चिम बंगाल सरकार की जहां हिंसक घटनाओं को लेकर हुई आलोचना हो रही थीं वहीं कुछ दिन पहले भारतीय जनता पार्टी के एक और कार्यकर्ता की लाश पेड़ से लटकी मिली थी.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.