अंडरवेयर कांड पर ये आई आज़म खान की तरफ से सफाई, हंसना मना है

बीते रविवार को रामपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए सपा के वरिष्ठ नेता आज़म खान ने कुछ ऐसा कह दिया, जिससे राजनीतिक हलकों में हंगामा हो गया है. ऐसी चर्चाएं हैं कि आज़म खान ने अपने भाषण में अप्रत्यक्ष रुप से रामपुर से भाजपा उम्मीदवार जया प्रदा पर टिप्पणी की.

हालांकि आज़म खान के बयान पर हंगामा बढ़ता देख सपा नेता आज़म खान के बचाव में उतर आए हैं और कह रहे हैं कि आज़म खान ने रैली के दौरान जया प्रदा का नाम नहीं लिया और जो कुछ भी कहा गया वह अमर सिंह के बारे में कहा गया.

इस पर टीवी9 भारतवर्ष ने अपने एक कार्यक्रम के दौरान सपा के बागी नेता अमर सिंह से बातचीत की और उन्हें सपा नेताओं और प्रवक्ताओं के बयानों से अवगत कराया.

इस पर अमर सिंह भड़क गए और नाराज होते हुए बोले कि “तो हमारी चड्ढी के बारे में बात करेगा! आज़म खान की इतनी औकात हो गई?” अमर सिंह ने कहा कि “आज़म खान की ऊंगली पकड़कर मैं तो नहीं गया था. आजम खान तो मेरा गुरु नहीं है और 10 साल तक सांसद वहां कौन रहा? जया प्रदा जी वहां से सांसद रही हैं.

दुष्ट लोगों की नजर में महिलाओं की कोई इज्जत नहीं.” इसके बाद अमर सिंह ने सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के एक पुराने बयान को याद करते हुए कहा कि ये वो पार्टी है, जिसके मुखिया ने कहा था कि “अच्छी आकर्षक महिला को देखकर युवाओं का मन मचल जाता है. इनकी नीति ये है.”

अमर सिंह ने कहा कि यह पहली बार नहीं हुआ है. इससे पहले भी उनके ऊपर तेजाब फेंकने की घटना हुई थी. अमर सिंह ने सपा नेताओं के दावों पर कहा कि वह तो रामपुर गए भी नहीं और वह आईसीयू में भर्ती थे, फिर उन पर क्यों ये आरोप लगाए जा रहे हैं? बता दें कि आज़म खान के बयान पर विपक्षी पार्टियों ने उन पर निशाना साधा है.

चुनाव आयोग ने भी आज़म खान पर 72 घंटे के लिए चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दी है. चुनाव आयोग ने आज़म खान के साथ-साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा नेता मेनका गांधी और बसपा सुप्रीमो मायावती पर भी यह बैन लगाया है.