CAA विरोधियों को Army Uniform पहनकर डराने से सेना नाराज़, उठाया ये कदम

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित जाफराबाद (Jafrabad Delhi) में प्रदर्शन कर रहे लोगों को डराने के लिए हुए आर्मी की वर्दी के इस्तेमाल पर भारतीय सेना सख्त एक्शन लने की तैयारी कर रही है. हाल ही में दिल्ली पुलिस का एक फुटेज सामने आया है, जिसमें कुछ लोगों ने हूबहू भारतीय सेना (Indian Army) के जवानों जैसी वर्दी पहन रखी है. अनुमान लगाया जा रहा है कि ये लोग दिल्ली पुलिस के रहे होंगे. करीब 1 मिनट 4 सैकेन्ड के वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि कुछ लोग  भारतीय सेना जैसी वर्दी पहन कर जाफरादबाद मेट्रो स्टेशन पर दिख रहे हैं. इस पूरे घटनाक्रम पर भारतीय सेना ने कहा कि वो जांच कर एक्शन लेगी.

समाचार एजेंसी ANI द्वारा ट्वीट किये गए एक वीडियो पर सोमवार को प्रतिक्रिया देते हुए भारतीय सेना के प्रवक्ता के ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया गया, ‘यह स्पष्ट किया जाता है कि आंतरिक सुरक्षा के लिए भारतीय सेना की तैनाती नहीं की गई थी.’

आर्मी को ये सफाई इसलिए भी देनी पड़ी क्योंकि दुनिया भर में ऐसी तस्वीरों से ये संदेश जा सकता है कि भारतीय सेना अपने ही नागरिकों के खिलाफ इस्तेमाल हो रही है. इससे सेना और देश की छवि खराब होती है.

इससे पहले समाचार एजेंसी ANI ने एक रिपोर्ट में बताया था कि उसे , ‘भारतीय सेना के सूत्रों ने बताया कि भारतीय सेना की वर्दी पहनने वाले राज्य पुलिस बलों और निजी सुरक्षा एजेंसियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.’ भारतीय सेना के सूत्रों ने कहा कि नीतिगत दिशानिर्देश हैं, जिसके अनुसार अर्धसैनिक और राज्य पुलिस बल के जवान सेना द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली वर्दी नहीं पहन सकते.सीलमपुर को मौजपुर और यमुना विहार से जोड़ने वाली सड़क बंद

,jafrabad delhi,jafrabad news,jafrabad news today,jafrabad port,protest in new delhi today,shaheen bagh,protest in delhi ncr today,caa protest in delhi,anti caa protest in delhi today,protest in delhi today live,citizenship amendment act,what is caa,

सीएए और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए शनिवार की रात दिल्ली के जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के निकट लगभग 500 लोग इकट्ठा हुए जिससे एक मुख्य सड़क अवरुद्ध हो गई. मेट्रो स्टेशन के निकट एकत्र होने वाले लोगों में ज्यादातर महिलाएं थीं.

महिलाओं ने तिरंगा लेकर ‘आजादी’ के नारे लगाते हुए कहा कि वे तब तक प्रदर्शनस्थल से नहीं हटेंगी जब तक कि केंद्र सरकार सीएए को रद्द नहीं कर देती. उन्होंने अपनी बांह पर एक नीली पट्टी बांधी और ‘जय भीम’ के नारे भी लगाए. इलाके में महिला पुलिसकर्मियों सहित भारी सुरक्षा बल तैनात किया गया है. महिलाओं ने सीलमपुर को मौजपुर और यमुना विहार से जोड़ने वाली सड़क नंबर 66 को अवरुद्ध कर दिया है.