पेंटिंग से दिमाग का बोझ कम करने की तरकीब, आईआईटी से आया तरीका

कला और उसका तनाव और स्ट्रेस दूर करने में योगदान एक अहम विषय है. कोरोना काल में तनाव से लड़ना और भी बड़ी चुनौती है. इस चुनौती का हर ढूंढने की कोशिश की अंश फाउंडेशन ने. अंश फाउंडेशन ने एक वेविनार किया जिसका विषय था “आर्ट से कैसे स्ट्रेस को दूर किया जाए. वेबिनार के वक्ता ‘अमित श्रीवास्तव’ जी रहे.

अमित ने बताया कि कैसे हमारे सारे सेंसेस एक काम को करने में लग जाते है और हमारा मन पूरी तरह उसमे लग जाता है. उन्होंने लाइव स्केच कर के भी अपने दर्शकों को दिखाया जिसमे उन्होंने हृतिक रोशन की तस्वीर बनाई और वो बनाते हुए उन्होंने बताया कि किस तरीके से हम एक स्केच को बना सकते है. उन्होंने बताया कि मेज़रमेंट कैसे लेते है और किस तरीके की पेंसिल का उपयोग किया जा सकता है. उन्होंने रंगों को भी स्ट्रेस को दूर करने में बहुत महत्वपूर्ण बताया.

अमित श्रीवास्तव को पेंट करना बहुत पसंद है और वह नौ साल की उम्र से ही चित्र बना रहे हैं. आईआईटी-दिल्ली के पूर्व छात्र, उन्होंने अपने लंबे समय तक कला के प्रति जुनून के चलते आईटी में अपना पुरस्कृत करियर छोड़ दिया. उनकी कलात्मक वर्षगांठ उन्हें द राइडर स्टूडियो (यूएसए) में ले गई, जहां उन्होंने मास्टर पेंटर एंथोनी राइडर के अधीन अध्ययन किया, जिसमें उनके सीखने के केंद्र बिंदु के रूप में चित्रकला और जीवन रेखाचित्र की शास्त्रीय यथार्थवादी शैली थी.वह वर्तमान में नई दिल्ली में अपने स्टूडियो से बाहर काम करते हैं.

प्रस्तुति बहुत प्रभावी रही. इस सेशन में अधिक मात्रा में लोगो की भागीदारी रही और यह सत्र बहुत ही लाभदायक रहा . अंश फाउंडेशन द्वारा उनके फेसबुक पेज पर समय-समय पर सामाजिक हित में ऐसे वेबिनार का आयोजन किया जाता है . जिससे लोगों की मानसिक एवं शारीरिक स्थिति को मजबूत बनाया जा सके .

1 Comment

  1. Expressive arts से हम अपनी अभिव्यक्ति के साथ अपने मानसिक व शारीरिक स्वस्थ लाभ पाते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *