क्या है राफेल डील का गर्लफ्रेंड कनेक्शन, कैसे धर्मसंकट में पड़े राष्ट्रपति

अनिल अंबानी को जब राफेल का कॉन्ट्रेक्ट मिला उससे कुछ ही पहले उन्होंने फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसवा ओलांद की प्रेमिका कही जाने वाली और पार्टनर जूली गॉयेट की फिल्म में जमकर पैसा लगाया था. ये फिल्म अंबानी की कंपनी के पैसे से बननी थी और बाद में कभी भारत में रिलीज नहीं हुई.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक इसके एक साल बाद अनिल अंबानी की कंपनी राफेल डील के ऑफशेट प्रोग्राम का हिस्सा बन गई. जिस कंपनी को ये ठेका मिला उसमें डीआरएएल में रिलायंस की 51 फीसदी और राफेल की निर्माता कंपनी डसाल्ट एविएशन की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी है.

ये भी पढ़ें :  सेना के सामने वंदेमातरम और तिरंगा वाले हुड़दंगी, गोली चलाने पर धर्म संकट

रिपोर्ट के अनुसार 24 जनवरी 2016 को रिलायंस इंटरटेनमेंट ने घोषणा की कि एक फ्रेंच फिल्म का संयुक्त रूप से निर्माण करने के लिए उसने गायेट की कंपनी रोग इंटरनेशनल के साथ करार किया है. इसके ठीक दो दिन बाद 26 जनवरी 2016 को भारत और फ्रांस के बीच 36 लड़ाकू विमानों की खरीद के लिए एमएयू पर हस्ताक्षर हुए.

ये भी पढ़ें :  सामने आईं राहुल गांधी की मार्शल आर्ट वाली तस्वीरें, आप भी देखिए पटखनी का अंदाज़

गायेट की जिस फिल्म में अंबानी की कंपनी ने पैसा लगाया उस फिल्म का निर्देशन फ्रेंच अभिनेता एवं फिल्म निर्माता सर्गे हेजानाविसियस ने किया. यह फिल्म ‘टाउट ला-हौट’ नाम से 20 दिसंबर 2017 को रिलीज हुई. लेकिन भारत में कभी नहीं दिखाई गई.

98 मिनट की ‘टाउट ला-हौट’ फिल्म की स्क्रीनिंग 2017 में स्पेन के सैन सेबस्टीयन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में हुई और इस फिल्म को यूएई, ताइवान, लेबनान, बेल्जियम, एस्टोनिया और लातविया सहित आठ देशों में रिलीज किया गया.

Spread the love

Leave a Reply