बिग बी के सेहत ज्ञान पर भरोसा मत करना, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी ये सलाह

कोरोना वायरस पर अमिताभ बच्चन का खोखला ज्ञान इससे पहले लोगों पर भारी पड़ता स्वास्थ्य मंत्रालय ने उन्हें झिड़क दिया है. मंत्रालय ने कहा है कि अमिताभ बच्चन कोरोना वायरस को लेकर जो दावा कर रहे हैं वो गलत है.

दर असल बॉलीवुड एक्टर अमिताभ बच्चन ने अपने एक वीडियो में कहा है कि कोरोना वायरस मक्खियों से भी फैलता है. अमिताभ बच्चन के इस दावे को स्वास्थ्य मंत्रालय ने खारिज करते हुए कहा कि मक्खियों से कोरोना नहीं फैलता है.

बच्चन ने 25 मार्च को कोरोना को लेकर लोगों में जागरुकता फैलाने के लिहाज से अपने ट्विटर हैंडल से एक वीडियो शेयर किया जिसमें चीन के विशेषज्ञों के हवाले से कहा है कि ‘कोरोना का मरीज अगर ठीक हो जाए तब भी कुछ हफ्तों तक उसके मल में यह संक्रमण जिंदा रहता है.’

अमिताभ बच्चन ने बताया, ‘संक्रमित व्यक्ति के मल पर बैठी मक्खियां दुर्भाग्य से फल, सब्जियों, खाने पर बैठ जाएं तो ये बीमारी और फैल सकती है.’ अमिताभ बच्चन के इस दावे को स्वास्थ्य मंत्रालय के जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने गुरुवार को अपने प्रेस कांफ्रेस में खारिज कर दिया और कहा कि मक्खियों से कोरोना नहीं फैलता है.

बता दें अमिताभ बच्चन ने कोरोना को मात देने के लिए लोगों से जनआंदोलन बनाने की बात भी कही. उन्होंने कहा, ‘जैसे हमने प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में स्वच्छ भारत मिशन को जनआंदोलन बनाकर भारत को खुले में शौच से मुक्त बनाया. जिस तरह से हम सबने मिलकर हमारे दो बूंद जिंदगी के अभियान में शामिल होकर भारत को पोलियो से मुक्त कराया उसी तरह आप भी कोरोना वायरस को रोकने में देश की मदद आप इन तीन कार्यों से करें.’

अमिताभ बच्चन ने तीन कार्य इस प्रकार बताए-

पहलाः अपने शौचालय का नियमित रूप से इस्तेमाल करें. और खुले में शौच के लिए बिल्कुल ना जाएं.

दूसराः सामाजिक दूरी (सोशल डिस्टेंस) बनाए रखें. और केवल किसी आपातकाल स्थिति में ही घर से बाहर निकलें.

तीसराः दिन में अनेक बार कम से कम 20 सेकेंड तक अपने हाथों को धोएं. और अपने आंख, नाक, मुंह को बिल्कुल ना छुएं. आखिर में अमिताभ बच्चन कहते हैं कि कोरोना को हराना है तो याद रखना होगा. दरवाजा बंद तो बीमारी बंद.