कल होगी काउंटिंग , ये है खास बातें, आपको भी पता हो तो बेहतर

कल जैसे जैसे 23 मई का सूरज आसमान में चढ़ेगा नेताओं की धड़कनें बढ़ती जाएंगी. सात सीटों की आस लगाए बैठे 164 उम्मीदवारों को शाम चार पांच बजे तक शायद ही राहत मिले क्योंकि मतगणना की रफ्तार के चलते तस्वीर शाम 4 बजे तक ही साफ हो पाएगी. ये भी हो सकता है कि उसके बाद भी कुछ सीटों पर कांटे का मुकाबला चले.

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. रणबीर सिंह के मुताबिक सात लोकसभा सीटों की मतगणना सात अलग अलग जगह पर होगी. सुबह आठ बजे से कड़ी सुरक्षा के बीच मतों की गिनती शुरू हो जाएगी. इस चुनाव में

पूर्वी दिल्ली की मतगणना कॉमनवेल्थ खेल गांव, अक्षरधाम के पास, उत्तर पूर्वी दिल्ली की मतगणना आइआइटी नंदनगरी में .. नई दिल्ली क्षेत्र की मतगणना एनपी बंगाली कन्या विद्यालय, गोल मार्केट में .. पश्चिमी दिल्ली की मतगणना इंटीग्रेटेड इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी, सेक्टर नौ में. दक्षिणी दिल्ली की मतगणना जीजीबाई महिला आइटीआइ, अगस्त क्रांति मार्ग, सीरीफोर्ट में चांदनी चौंक की मतगणना सर्वोदय कन्या विद्यालय, भारत नगर में, और पश्चिमी की मतगणना दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी, शाहबाद दौलतपुर में होगी

किसी सीट पर 15 राउंड की मतगणना होगी तो किसी सीट पर 30 राउंड की. अनुमान है कि अधिकतम शाम पांच बजे तक सभी सीटों की ईवीएम मतगणना पूरी हो जाएगी. इसके बाद वीवीपैट की पर्चियों का मिलान किया जाएगा. इस प्रक्रिया के पूरी होने में रात 10 से 12 बज सकते हैं.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि 23 मई के दिन हर मतगणना स्थल पर दिल्ली पुलिस के करीब 1 एक हजार कर्मियों की तैनाती होगी जबकि सेंट्रल आर्म्डर पुलिस फोर्स (सीएपीएफ) की एक कंपनी और दिल्ली सशस्त्र पुलिस की भी एकएक कंपनी को तैनात किया गया है. एक कंपनी में एक सौ जवान शामिल होते हैं.

उत्तर पूर्वी, चांदनी चौक, नई दिल्ली, पूर्वी और उत्तरपश्चिमी संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों में आठ लाख एक हज़ार एक सौ पुलिसकर्मियों की तैनाती होगी. वहीं पश्चिमी दिल्ली और दक्षिणी दिल्ली संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों में मतगणना केंद्रों पर अधिक जवान तैनात रहेंगे. यहां पर 15001500 जवान तैनात होंगे. पश्चिमी दिल्ली का मतगणना केंद्र द्वारका में स्थित है और यहां पर खुली सड़के हैं. इस वजह से यहां पर काफी ट्रैफिक होता है. इसी तरह दक्षिणी दिल्ली का मतगणना केंद्र अगस्त क्रांति मार्ग के व्यस्त हिस्से पर स्थित है. लिहाजा वहां भी अधिक सुरक्षा तैनात की गई है.

द्वारका में मतगणना केंद्र से एक सौ मीटर की दूरी पर बैरिकेड लगाए जाएंगे और केवल रिटर्निंग अधिकारियों और एसडीएम के वाहनों को ही मतगणना केंद्र तक जाने दिया जाएगा. एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने दो पार्किग स्थलों की व्यवस्था की है जहां यात्री अपने वाहन पार्क कर सकेंगे. वहीं द्वारका कोर्ट भी मतगणना केंद्र के करीब स्थित है. इसलिए उस दिन अदालत में आने वाले वकीलों और याचिकाकर्ताओं के लिए दो व्यवस्थाएं बनाई गई हैं. विजय जुलूस के लिए अलग से व्यवस्था बनाई गई है. मतगणना के दिन पुलिसकर्मियों को तीन शिफ्टों सुबह 6 से दोपहर 2 बजे, दोपहर 2 से रात 10 बजे तक तैनात किया जाएगा. जरूरत के मुताबिक तीसरी शिफ्ट की व्यवस्था रहेगी.