नाबालिग देह को खसोटने और उन्हें सप्लाई करने वाला अखबार मालिक, पुलिस कर रही है तलाश

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में एक बडे अखबार के मालिक के खिलाफ नाबालिग लड़कियों की सप्लाई का मामला दर्ज हुआ है. ये अखबार मालिक (newspaper owner) अपनी असिस्टेंट युवती के जरिए पार्टी में नाबालिग लड़कियों को सप्लाई करता था. ये नाबालिग बच्चियां पाटी में डांस के नाम पर लेजाई जातीं और फिर नशा देकर मध्यप्रदेश के कई रसूखदार लोग उनका तन नोचते थे. मामले में अब तक 6 लोगों के नाम सामने आए हैं.

अड़सठ साल के प्यारे मियां नाम के इस अखबार मालिक की करतूत उस समय सामने आई पांच नाबालिग लड़कियां पुलिस को सड़क पर बदहवास घूमती हुई मिलीं. पुलिस के अनुसार रात्रि गश्त के दौरान 3:00 बजे पुलिस 5 लड़कियों को घूमते देखकर चोक गई. रातीबड़ पुलिस ने सभी लड़कियों को चाइल्ड लाइन (Child Line) को सौंप दिया है.

चाइल्ड लाइन की पूछताछ में यह बात सामने निकलकर आई कि इन लड़कियों को प्यारे मियां ने अपनी असिस्टेंट स्विटी विश्वकर्मा की मदद से शाहपुरा स्थित विष्णु हाइट स्थित फ्लैट पर जन्मदिन की पार्टी मनाने लिए बुलाया था.

ये भी पढ़ें :  बीजेपी पर भारी पड़ने लगा है कांग्रेस का सोशल सेल, 2019 तक मार करेगा ये वाट्सएप ब्रह्मास्त्र

यहां पर प्यारे मियां ने एक लड़की का रेप किया. पूछताछ में चाइल्ड लाइन को अन्य लड़कियों ने भी बताया कि वे सभी समय-समय पर फ्लैट में गई थीं. जहां पर प्यारे मियां ने उनके साथ भी रेप किया था. इस गलत काम के लिए प्यारे मियां अपनी असिस्टेंट की मदद से लड़कियों को पैसे देता था. पुलिस ने बताया कि लड़कियों को पार्टी में बुलाकर उनके साथ गलत काम किया जाता था.

चाइल्ड लाइन की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने आरोपी प्यारे मियां और स्विटी विश्वकर्मा के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. स्वीटी विश्वकर्मा को गिरफ्तार किया गया है. जबकि प्यारे मियां की तलाश की जा रही है. इस मामले पर प्यारे मियां की तरफ से कोई बयान अबतक नहीं आया है.

ये भी पढ़ें :  मैं हिंदू ब्राह्मण, नवाज ने कभी अपना धर्म नहीं थोपा, पत्नी आलिया का बयान

कई बड़े रसूखदारों ने किया यौन शोषण

सूत्रों के अनुसार, अखबार मालिक प्यारे मियां के अलावा भी इस नाइट पार्टी के कई बड़े रसूखदार शौकीन थे. अक्सर इस फ्लैट और रातीबड़ स्थित फार्महाउस पर पार्टियां होती थीं. इन पार्टियों में रसूखदारों की डिमांड पर नाबालिग लड़कियों की सप्लाई की जाती थी. लड़कियों की सप्लाई प्यारे मियां की असिस्टेंट करती थी.

इस युवती असिस्टेंट के पास चार नाबालिग और एक बालिग लड़की थी. बताया जा रहा है कि इन लड़कियों को 10-10 हजार रुपए महीने में रखा गया था. यह सभी गरीब परिवार से आती हैं, जिसका फायदा उठाया जा रहा था. एसपी साईं थोटा ने बताया कि अभी मामले की जांच की जा रही है. पार्टी में कौन-कौन लोग शामिल थे. किन-किन लोगों ने लड़कियों का यौन शोषण किया है – सभी बिंदुओं की जांच की जाएगा.