पत्रकार तरुण सिसोदिया की मौत के बाद सख्त एक्शन, एम्स पर बड़ी कार्रवाई

दिल्ली के ‘अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान’ (AIIMS)  में पत्रकार तरुण सिसोदिया की आत्म हत्या के मामले में एम्स की खामियों को सरकार ने पहली नजर में मान लिया है. मामले में सख्ती दिखाते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने एम्स ट्रॉमा सेंटर (जय प्रकाश नारायण एपेक्स ट्रॉमा) के मेडिकल सुपरिटेंडेंट को तुरंत पद से हटा दिया है.

नॉकिंग न्यूज ने खबर दी थी कि. 6 जुलाई को कोरोना पाड़ित पत्रकार ने AIIMS के ट्रामा सेंटर की चौथी मंजिल से छलांग लगाकर खुदकुशी कर ली थी. इस आत्म हत्या को हत्या भी माना जा रहा था क्योंकि कई सवाल तरुण की मौत पर उठे थे और उसमें एम्स ट्रॉमा सेन्टर की भूमिका काफी संदिग्ध मानी जा रही थी.

तरुण सिसोदिया दिल्ली में दैनिक भास्कर अखबार में रिपोर्टर थे और कोरोना पॉजिटिव होने के कारण उनका एम्स में इलाज चल रहा था. बाद में प्रशासन ने रहस्यमय ढंग से उनका मोबाइल फोन छीन लिया था और उन्हें आईसीयू में भर्ती कर दिया था ताकि वो लोगों को कोई जानकारी न दे सकें.

ये भी पढ़ें :  इलाज में काम आती है आदमी की पॉटी, बेचकर कमा सकते हैं 8 लाख

हालांकि पत्रकार की आत्महत्या की जांच के लिए केंद्रीय मंत्री ने एक उच्च-स्तरीय कमेटी बनाकर जांच के आदेश दिए थे और 48 घंटे के अंदर जांच की रिपोर्ट मांगी थी. इस जांच समिति में चीफ ऑफ न्यूरोसाइंस सेंटर से प्रोफेसर पद्मा, मनोचिकित्सा विभाग के हेड आरके चड्ढा, डिप्टी डायरेक्टर (एडमिन) डॉ. पांडा और डॉ. यू सिंह शामिल रहे.

4 सदस्यों की इस कमेटी ने शुक्रवार को अपनी रिपोर्ट सौंप दी. रिपोर्ट मिलने के बाद स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने शुक्रवार को कहा कि कोविड-19 संक्रमित पत्रकार द्वारा कथित तौर पर की गई आत्महत्या के मामले में एम्स द्वारा की गई जांच में पत्रकार की मौत के पीछे किसी गलत नीयत के होने का प्रमाण नहीं मिला है और न उसके इलाज की प्रक्रिया में कोई गड़बड़ी पाई गई है.

ये भी पढ़ें :  हटने वाली है PUBG मोबाइल से रोक, बस छोटा सा अड़ंगा बाकी

वहीं, स्वास्थ्य मंत्री ने एम्स और जय प्रकाश नारायण एपेक्स ट्रॉमा सेंटर के प्रशासन में आवश्यक बदलाव के लिए एक विशेषज्ञ समिति गठित करने का भी निर्देश दिया है. उन्होंने एक ट्वीट में कहा कि समिति 27 जुलाई तक अपने सुझाव सौंपेगी.

मामले में ये सवाल भी उठाया गया था कि पत्रकार कैसे आईसीयू से उठकर चौथी मंजिल तक पहुंच गया और कथित आत्महत्या करने में कामयाब रहा

मूल रूप से बुलंदशहर के रहने वाले तरुण पिछले दिनों कोरोना की चपेट में आ गए थे, जिस कारण वह काफी तनाव में चल रहे थे. करीब तीन साल पहले ही तरुण की शादी हुई थी. उनके दो बेटियां हैं, जिनमें से एक की उम्र 2 साल है और दूसरे की उम्र मात्र कुछ ही महीने है.