#Abhinandan पर पाकिस्तान में है ये चर्चा

विंग कमांडर अभिनंदन आज वापस आ रहा है. जाहिर बात है कि पूरे देश के पास ये जानकारी तो है कि भारत में लोग इस पर क्या सोचते हैं. ये भी पता है कि पाकिस्तान की सरकार क्या कह रही है लेकिन पाकिस्तान के अंदर की हलचल क्या है, वहां के अखबार इस पर क्या लिख रहे हैं, ये हम आपको यहां बता रहे हैं.

पाकिस्तान के सबसे प्रतिष्ठित अखबारों में से एक डॉन ने लिखा है कि भाग्य ने अभिनंदन का साथ नहीं दिया क्योंकि उनका मिग-21 बाइसन पाकिस्तान के नियंत्रण वाले हिस्से के भीतर गिरा.

अख़बार का कहना है कि ‘आज़ाद कश्मीर’ में स्थानीय लोगों ने उन्हें पकड़ा और पाकिस्तानी सेना को सौंपा, ग़ुस्साई भीड़ से सेना के अधिकारियों ने उन्हें बचाया.

ऐसे पकड़े गए अभिनंदन

अख़बार में छपी एक और ख़बर के अनुसार लाइन ऑफ़ कंट्रोल से सात किलोमीटर दूर गिरा.  होर्राअन गांव में मोहम्मद रज़्ज़ाक़ चौधरी ने सवेरे 8.45 बजे धुआ देख कर अंदाज़ा लगाया कि आसमान शांत नहीं है. उन्होंने देखा कि को विमानों में आग लगी है और दोनों तेज़ गति से ज़मीन की तरफ आ रहे हैं.

ये भी पढ़ें :  दंगों का एक्सपर्ट नेता होगा 2019 चुनाव में यूपी बीजेपी का इंचार्ज ?

एक विमान का मलबा रज़्ज़ाक़ के घर से क़रीब एक किलोमीटर दूर गिरा. रज़्ज़ाक़ को एक पैराशूट दिखाई दिया. इसमें से एक पायलट निकलता दिखाई दिया.

रज़्ज़ाक़ ने इस बीच गांव के कई लोगों को जमा कर लिया था. इधर पैराशूट से निकले पायलट थे अभिनंदन जिनके हाथ में एक रिवॉल्वर थी. उन्होंने हवा में फ़ायर करते हुए सबसे पहले पूछा कि ये पाकिस्तान है या हिंदुस्तान. इसके उत्तर में स्थानीय लोगों ने हाथों में पत्थर उठा लिए.

अभिनंदन को अंदाज़ा हुआ कि वो पाकिस्तान में हैं और वो वहां से भागने लगे. करीब एक किलोमीटर दूर जाने पर उन्होंने अपने पीछे आते लोगों को रोकने के लिए कई बार हवा में फायरिंग की. इसके बाद को एक पानी से भरे एक तालाब में कूद गए और जेब से कुछ कागज़ात निकाल कर उन्हें पानी में भिगोने लगे और उन्हें खाने लगे.

ये भी पढ़ें :  नाथूराम गोडसे का मंदिर खत्म, प्रशासन ने हटा दी मूर्ति, लेकिन खबर सिर्फ इतनी नहीं है

इस बीच उनके पैरों पर किसी ने चोट की जिसके बाद स्थानीय लोगों ने उनको नियंत्रित कर लिया. इसके बाद सेना के आने के बाद अभिनंनदन को उन्हें सौंप दिया गया.

अभिनंदन ने पाकिस्तान में ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाए, गोलियां चलाईं

इसलिए दूसरा वीडियो जारी किया

एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने अभिनंदन से जुड़ी दो ख़बरों को जगह दी है.

एक ख़बर के अनुसार अभिनंदन के साथ जिस प्रकार का व्यवहार पाकिस्तानी सेना कर रही है उसकी देश के बाहर भी प्रशंसा मिल रही है.

दूसरी ख़बर के अनुसार अभिनंदन के पाक सेना की तारीफ़ की है. अख़बार कहता है कि अभिनंदन को स्थानीय लोगों ने पकड़ा था जो बेहद ग़ुस्से में थे. उन्हें तितर बितर करने के लिए गोलियां चलानी पड़ी.

अख़बार का कहना है कि इस दौरान कुछ लोगों ने अभिनंदन का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया में पोस्ट किया जिसमें उनके चेहरे पर काफ़ी ख़ून दिखाई दे रहा था. कहीं भारतीय पायलट की सुरक्षा को लेकर भारत में चिंता न हो इसलिए बाद में सेना ने उनका दूसरा वीडियो जारी किया. पहला वीडियो पोस्ट करने के बाद उसे डिलीट किया गया था. शायद एक्सप्रेस ट्रिब्यून की ख़बर का इशारा इसी कारण की तरफ़ हो.

ये भी पढ़ें :  फ्रांस के राष्ट्रपति ने राफेल का ठीकरा मोदी के सिर फोड़ा

द इंटरनेशनल न्यूज़ ने विंग कमांडर अभिनंदन कौन हैं इस बारे में एक ख़बर छापी है.

अख़बार ने एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें साल 2011 में बनी भारतीय वायु सेना की डॉक्यूमेन्ट्री से अभिनंदन के क्लिप दिखाए गए हैं.

अख़बार ने पाक सेना में स्क्वॉड्रन लीडर हसन सिद्दिक़ी की तस्वीर भी पोस्ट की है और लिखा है कि दो भारतीय लड़ाकू विमानों को मार गिराने वाले यही थे.

पाकिस्तानी वेबसाइट नेशन ने लिखा है कि पाकिस्तानी सेना ने कहा है कि पकड़े गए भारतीय पायलट के साथ वैसा व्यवहार किया जा रहा है जैसा सेना के नैतिक मूल्यों के अनुसार होना चाहिए.

अख़बार का कहना है कि अभिनंदन ने ग़ुस्साई भीड़ से उन्हें बचाने के लिए सेना का धन्यवाद किया है. यही ख़बर पाक ऑब्ज़र्वर ने भी छापी है और कहा है कि भारतीय पायलट पाक सेना से इंप्रेस्ड हैं.

Leave a Reply