करवाचौथ पर हर शहर का है अलग मुहूर्त , जानिए आपको कब होंगे दर्शन, और भी बातें

आज यानि 27 अक्‍टूबर, शनिवार को देशभर में महिलाएं करवा चौथ का व्रत मना रही हैं. इस बार खास बात ये है कि करवा चौथ का व्रत संकष्टी गणेश चतुर्थी के साथ पड़ रहा है ज‍िससे इसका महत्‍व और भी बढ़ गया है. इस बार करवा चौथ के दिन अमृत सिद्धि और सर्वार्थ सिद्धि का योग बन रहा है. यह योग पूरे 27 साल के बाद बन रहा है.

जानकारी के लिए बता दें कि आज के बाद यह महासंयोग 16 साल बाद ही आएगा. आज के पहले यह महासंयोग 1991 में बना था. आज के दिन जो महिलाएं अपने पति के लिए व्रत रखेंगी उन्‍हें विशेश फल प्राप्‍त मिलने की संभावना है. इस बार चंद्रमा रोहिणी नक्षण का होगा इसलिए आज का दिन और भी खास बन जाता है. इस व्रत को रखने वाली महिलाएं चाद को अर्ध्य देने के बाद केवल पति के हाथ से ही जल पिएं. यदि आप आज करवा चौथ का व्रत हैं तो यहां जानें शुभ मुहूर्त एंव पूजा विधि. ​

 

करवा चौथ मुहूर्त

ये भी पढ़ें :  इस बार करवा चौथ पर मुहूर्त और तिथि, अर्घ्य देने का समय भी यहां देखें

करवा चौथ पूजा मुहूर्त: 5:40 से 6:47 तक

करवा चौथ चंद्रोदय समय : 7 बजकर 55 मिनट

करवा चौथ की पूजा विधि:

इस दिन महिलाएं सोलह श्रृंगार करती हैं. सोलह श्रृंगार में माथे पर लंबी सिंदूर अवश्य हो क्योंकि यह पति की लंबी उम्र का प्रतीक है. मंगलसूत्र, मांग टीका, बिंदिया ,काजल, नथनी, कर्णफूल, मेहंदी, कंगन, लाल रंग की चुनरी, बिछिया, पायल, कमरबंद, अंगूठी, बाजूबंद और गजरा ये 16 श्रृंगार में आते हैं.

 

सोलह श्रृंगार में महिलाएं सज धजकर चंद्र दर्शन के शुभ मुहूर्त में छलनी से पति को देखती हैं. चंद्रमा को अर्ध्य देती हैं. चंद्रमा मन का और सुंदरता का प्रतीक है. महिलाएं चंद्रमा के समकक्ष सुंदर दिखना चाहती हैं क्योंकि आज वो अपने पति के लिए प्रेम की खूबसूरत चांद हैं. इससे पति का पत्नी के प्रति आकर्षण बढ़ता है. आपको बता दें कि यह व्रत समर्पण का व्रत है. जीवात्मा महिला होती है. परमेश्वर पुरुष है. जो समर्पण एक भक्त का भगवान के प्रति होता है वैसा ही भाव आज पत्नी का पति के प्रति है.

ये भी पढ़ें :  इस बार करवा चौथ पर मुहूर्त और तिथि, अर्घ्य देने का समय भी यहां देखें

Karwa Chauth की पूजा पर जिस चीज का सबसे ज्यादा महत्व होता है वह है चांद. इस व्रत की पूजा शाम को चांद देखने निकलने पर ही की जाती है. चांद निकलने पर सुहागिनें अर्घ्य देकर अपना व्रत तोड़ती हैं इसके बाद ही उनकी पूजा संपन्न होती है. इस त्योहार में सुहागिनें घंटों चांद निकलने का इंतजार करती हैं ऐसे में आपके लिए ये जानना बेहद जरूरी है कि आपके शहर में चांद कब निकलने वाला है.

इस बार करवा चौथ की पूजा का मुहूर्त सायंकाल 6:35 से रात 8:00 तक है. अर्घ्य रात 8 बजे के बाद चांद देखने के बाद दिया जा सकता है. यहां हम आपको बता रहे हैं कि आपके शहर में इस करवा चौथ चांद निकलने का समय क्या है.

दिल्ली-मुंबई जैसे शहरों में कब निकलेगा चांद

दिल्ली में रह कर करवा चौथ करने वाली सुहागिनों को 7.55 PM पर चांद के दर्शन होंगे.

मुंबई में चांद निकलने का समय 08:58 PM है.

इन छोटे शहरों में कब निकलेगा चांद

अमृतसर- 08:28 PM

ये भी पढ़ें :  इस बार करवा चौथ पर मुहूर्त और तिथि, अर्घ्य देने का समय भी यहां देखें

इंदौर –  08:38 PM

उदयपुर- 08:45 PM

अजमेर- 08:39 PM

अंबाला- 08:25 PM

अहमदाबाद- 08:52 PM

इलाहाबाद- 08:12 PM

कोलकाता- 07:49 PM

करनाल- 08:24 PM

कानपुर- 08:17 PM

कुरुक्षेत्र- 08:25 PM

जयपुर- 08:34 PM

गाज़ियाबाद- 08:24 PM

ग्वालियर- 08:25 PM

गुड़गांव- 08:27 PM

चंडीगढ़- 08:22 PM

चेन्नई- 08:37 PM

लखनऊ- 08:13 PM

जम्मू- 08:26 PM

जालंधर- 08:28 PM

जोधपुर- 08:46 PM

देहरादून- 08:20 PM

पटियाला- 08:26 PM

रांची-    7.31 PM

पंचकूला- 08:22 PM

पानीपत- 08:26 PM

पटना- 07:58 PM

फरीदाबाद- 08:26 PM

मेरठ- 08:23 PM

सोनीपत- 08:26 PM

लुधियाना- 08:26 PM

शिमला- 08:21 PM

वाराणसी- 08:08 PM

रोहतक- 08:24 PM

हिसार- 08:31 PM

यूं तो पूरे भारत में चंद्रमा निकलने का समय रात 7.28 से 8:14 बजे तक बताया जा रहा है. वहीं पूजा के लिए का शुभ मुहूर्त शाम 5:40 से शाम 6:47 बजे तक का है.

ऐसी मान्यता है कि करवा चौथ सुहागिन महिलाओं का प्रमुख व्रत है और जो भी महिला पूरे विधि-विधान से करवा चौथ का व्रत करती है उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं.

Spread the love

Leave a Reply