विधायकों की सदस्यता जाने से गुस्साए केजरीवाल ने बताई बीजेपी की प्लानिंग

नई दिल्ली: विधायकों की सदस्यता रद्द करने के फैसले के बाद दिल्ली के सीएम केजरीवाल गुस्से में हैं उन्होंने मोदी सरकार पर तगड़ा हमला किया. उन्होंने सीधे सीधे इसे केन्द्र की साजिश बताया उन्होंने कहा कि ये पहला मामला नहीं है. हमने काम करके दिखाया इसलिए सरकार हमसे डरती है.

केजरीवाल ने कहा हमारे 20 विधायकों के खिलाफ झूठे केस किये, गिरफ़्तार भी किया लेकिन जब कोर्ट में मामला गया तो सबको छोड़ दिया. उन्होंने कहा भारत के इतिहास में पहली बार हुआ जब मुख्यमंत्री के घर और दफ़्तर में रेड करवाई गई.

उन्होंने कहा दिल्ली सरकार की 400 फ़ाइल मंगा कर जांच की ताकि केजरीवाल के खिलाफ कुछ मिल जाए तो केजरीवाल को गिरफ्तार करें. 4 महीने में 400 फ़ाइल एलजी ने जांच की लेकिन मेरे खिलाफ कुछ नही मिला. उन्होंने कहा जब इनकी कहीं नही चली तो जनता द्वारा चुने 20 विधायक को बर्खास्त कर दिया, जो बेहद गलत है.

ये भी पढ़ें :  केजरीवाल के बीस विधायक अयोग्य करार, चुनाव आयोग ने सदस्यता रद्द करने की सिफारिश की

उन्होंने कहा विधायकों को मैने कहा कि अपनी विधानसभा के अलावा एक अलग से एक-एक विधायक को रोज 40 स्कूल की ज़िम्मेदारी दी थी. वो विधायक स्कूल में जाकर देखता था कि टीचर टाइम पर आते हैं या नही, टॉयलेट साफ है या नही. विधायक रोज मुझे रिपोर्ट देता था, और गड़बड़ी ठीक करवा के आता था. जनता बताए गलत करता था या सही? हमने उसको एक भी पैसा नही दिया, एक भी गाड़ी नही दी, कोई बंगला नही दिया जबकि विधायक अपने पैसे खर्च करता था.

उन्होंने कहा हमारी पार्टी आंदोलन से निकली है. जेल जाकर, डंडे खाकर हमने सब कुछ कुर्बान किया है. हमारे सारे विधायक पागल किस्म के हैं. उन्होंने कहा विधायक खुद का पैसा खर्च करते और स्कूटर से काम पे जाते थे. अब इसमें क्या लाभ कमा लिया हमने?

ये भी पढ़ें :  कोई नहीं बता सकता कि चुनाव आयोग ने क्या सिफारिश की है, सारा बवाल हवाई है

उन्होंने कहा जनता बताए कि 20 विधायकों को अलग अलग ज़िम्मेदारी देकर मैंने क्या गड़बड़ी कर दी? क्या विधायक का कोई कसूर है? दरअसल ये केंद्र के लोग हमारे  पीछे पड़े हैं क्योंकि इन्हें लगता है कि केजरीवाल ने काम कर दिया तो पूरा देश देख रहा है.

उन्होंने कहा दिल्ली में जनता झाडू के साथ है लेकिन केंद्र सरकार काम नही करने दे रही है.  उन्होंने कहा अब 20 सीट पर चुनाव होंगे तो चुनाव सहिंता लगेगी और काम ठप्प हो जाएगा. फिर लोकसभा का चुनाव आएगा, फिर चुनाव संहिता लगेगी और फिर काम ठप्प हो जाएगा, फिर अगली विधानसभा का चुनाव आ जायेगा और काम फिर ठप्प हो जाएगा. केंद्र के लोगों ने 2 साल के लिए दिल्ली में काम ठप्प कर दिया है.

ये भी पढ़ें :  जब आजतक के लाइव शो में केजरीवाल के लिए गंदे शब्द कहे गए.

उन्होंने कहा मेरा मानना है कि जनता के काम पर राजनीति करना गलत है और न जनता के साथ राजनीति होनी चाहिए. उन्होंने कहा दिल्ली सरकार ने प्लानिंग की है. 2 साल में दिल्ली के अंदर सीसीटीवी लगाने का प्लान तैयार है, फ्री वाईफाई देने का प्लान तैयार है. कच्ची कॉलोनी में सीवर, पानी, सड़क, नाली का काम पूरा हो जाएगा. उन्होंने कहा केंद्र जितना परेशान कर ले मैं नही डरता, क्योंकि जनता मेरे साथ है.

Spread the love