पाकिस्तान में बन रहा है मोदी और नवाज़ की यारी का मुद्दा, साजिश की तरफ इशारा

पाकिस्तान के चुनाव में वो ही मुद्दा छाया हुआ है जो अक्सर भारत में उठता रहता है. पाकिस्तान में भी मुद्दा बन रहा है जिसे भारत में लगातार उठाया गया . 25 जुलाई को पाकिस्तान में मतदान होना है. लेकिन वहां भारत फिर चुनावी मुद्दा बना हुआ है. भारत से भी ज्यादा बड़ा मुद्दा है मोदी और नवाज शरीफ की नापाक कही जा रही दोस्ती.

पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ (पीटीआई) के प्रमुख इमरान खान ने ट्वीट करके पूर्व पीएम नवाज शरीफ और पीएम मोदी की दोस्ती पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि यह बहुत आश्चर्य की बात है कि जब भी नवाज शरीफ समस्या में होते हैं तो पाकिस्तान की सीमा पर तनाव बढ़ जाता है. साथ ही आतंकवादी गतिविधियां भी बढ़ जाती हैं. उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि क्या यह महज संयोग है ?

यही नहीं उनकी पार्टी के कार्यकर्ता पाकिस्तान में एक नारा भी लगा रहे हैं. वह चुनाव प्रचार के दौरान कहते हैं कि मोदी का जो यार है वो गद्दार है, गद्दार है. भारत में भी इस ट्वीट के बाद राजनीति गर्मा गयी है. इसके बाद कांग्रेस ने ट्वीट करके पूछा है कि नवाज शरीफ भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार किए गए हैं. हम जानना चाहते हैं कि उनके अच्छे दोस्त पीएम मोदी अब क्या कहेंगे? इसके जवाब में भाजपा ने भी ट्वीट करके कांग्रेस पर हमला बोला है. भाजपा ने कहा कि जो बेल पर बाहर है उन्हें जेल जाना होगा.

वहीं दूसरी और नवाज शरीफ और मरियम को रावलपिंडी की अदियाला जेल में रखा गया है. जहां उन्हें सुकून भरी सभी चीजे मुहैया कराई जा रही हैं. उन्हें वीआईपी बैराक में रखा गया है. जहां उन्हें एसी, फ्रीज, टीवी जैसी सुविधाएं मिल रही हैं.  नवाज़ शरीफ को उसी पनामा लीक्स के मामले में सज़ा हुई है जिसमें भारते के उद्योगपति गौतम अडानी और अमिताभ बच्चन जैसे मोदी के करीबियों का नाम है. लेकिन यहां जांच तक तारीखों के बीच झूल रही है.

बता दें कि नवाज को भ्रष्टाचार के मामले में 10 साल की सजा हुई है जबकि मरियम को 7 साल की और उनके दामाद को 1 साल की सजा हुई है. नवाज मरियम ने शुक्रवार को लंदन से लौटकर सरेंडर किया है. वह काफी समय से लंदन में थे जहां वह अपनी बीमार पत्नी का कैंसर का इलाज करा रहे थे.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.