क्या अमेरिका को विश्व स्तर पर वामपंथियों से चुनौती मिलने वाली है?

नाटो पार्टनर आपस मे लड़ रहे हैं
चीन श्रीलंका के नजदीक जा रहा है
बारत से संबंध भी खराब नहीं है
उत्तर कोरिया हथियार तैनात करके तेयार है
चीन नेपाल और पाकिस्तान के भी करीब है
पाकिस्तान अमेरिका के लिए रूस को धोखा देता पकड़ा गया. उसके हथियार यूक्रेन में मिले हैं फिर भी अमेरिका उस पर भरोसा नहीं कर पा रहा
साउदी अरब ने साफ मना कर दिया है. खुद बाइडेन के अपील करने के बाद भी साउदी अरब और ओपेक ने दाम गिराने से इनकार कर दिया
ईरान के साथ पहले ही छत्तीस का आंकड़ा चल रहा है
अब दोबारा उस देश की रफ जा रहा है जिसे खुद बरबाद किया
बेनेजुएला से सेंक्शन हटाने के लिए बात कर रहा है अमेरिका.

इन लैटिन अमेरिकी देशों में लेफ्ट सरकार
मेक्सिको
अर्जेंटीना
बोलीविया
पेरू
चिली
कोलंबिया
अब ब्राजील में जीते

लूला 1.8 प्रतिशत वोटों के अंतर से जीते हैं, ऐसा ही कुछ पेरू में देखने को मिला, जहां सोशलिस्ट पेड्रो कासिलो महज 0.25 प्रतिशत मतों से जीते। कोलंबिया में लेफ्टिस्ट गुस्ताव पेट्रो ने 3.07 प्रतिशत वोटों के अंतर से जीत हासिल की। उन्होंने देश के पहले वामपंथी राष्ट्रपति के रूप में इसी साल अगस्त में शपथ ली है।