केजरीवाल के काम की धमक अमेरिका तक पहुंची, स्कूल देखने आएंगी ट्रंप की पत्नी

अरविंद केजरीवाल के सरकारी स्कूल और हैप्पीनेस क्लास की गूंज अमेरिका तक पहुंच गयी है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जब भारत आएंगे तो उनकी पत्नी दिल्ली के सरकारी स्कूल में जाएंगी और वहां हैप्पीनेस क्लास जाएंगी. मेलानिया का स्वागत मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया करेंगे.

यह पहला मौका होगा, जब दिल्ली के सरकारी स्कूलों में अमेरिका की प्रथम महिला विशेष मेहमान होंगी. इस विशेष दौरे के लिए स्कूल में सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है. मेलानिया ट्रंप हैप्पीनेस क्लास में बच्चों के साथ समय बिताएंगी और जानेंगे कि कैसे सरकारी स्कूल के बच्चों के बीच तनाव कम किया जाता है.

अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप करीब 1 घंटे का समय सरकारी स्कूल में बिताएंगी. खास बात है कि जब डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच मुलाकात चल रही होगी, उस समय मेलानिया ट्रंप केजरीवाल सरकार के स्कूल के दौरे पर होंगी. वह दोपहर 12 बजे स्कूल का दौरा करेंगी.

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने 2018 में हैप्पीनेस क्लास की शुरुआत की थी. यह क्लास नर्सरी से 8वीं तक के स्टूडेंट्स के लिए होती है. इसका मकसद बच्चों को मानसिक तनाव और अवसाद को दूर करना था. इस क्लास में कोई लिखित परीक्षा नहीं होती है, सिर्फ बच्चे के हैपीनेस इंडेक्स का मूल्यांकन किया जाता है.
हैप्पीनेस करीकुलम की ये क्लास नर्सरी से लेकर कक्षा 8 तक के बच्चों के लिए है. दिल्ली के सरकारी स्कूलों में प्रतिदिन 45 मिनट की हैप्पीनेस क्लास लगाई जाती है. इससे बच्चों में आत्मविश्वास को बढ़ाने और खुश रहने के साथ भावनात्मक रूप से मजबूत बनने की कला सिखाई जाती है. इस क्लास को मेडिटेशन से शुरु किया जाता है, फिर कहानियों आदि के जरिए बच्चों को जीवन मूल्यों का पाठ सिखाया जाता है. इस क्लास को पढ़ाने के लिए टीचर्स की स्पेशल ट्रेनिंग ली गई थी.
बीते साल करीकुलम का उद्घाटन बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा ने किया था. दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट कर उत्सव की जानकारी दी थी. उनसे मेघालय के शिक्षा मंत्री ने बच्चों से हैप्पीनेस क्लास में मुलाकात की थी.