अर्नब की जमानत से खुली न्याय व्यवस्था की पोल

देश में अदालतों के जमानत पर दोहरे मापदंड क्यों ? अलग अलग मामले में अलग अलग रवैया और एक ही मामले में अलग अलग अदालत का रवैया अलग अलग क्यों WHY THERE IS DOUBLE STANDARD ON COURT IN INDIA? WHY BAIL IS MUST? WHAT BAIL RELATED LAW SAYS? IS EQUALITY DENIED? Girijesh Vashistha Journalist,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *