थाईलैंड की गुफा से टीम नहीं निकल पाती अगर भारत का सहयोग न मिलता

थाईलैंड की गुफा से टीम नहीं निकल पाती अगर भारत का सहयोग न मिलता

भारत की एक कंपनी न होती तो थाइलैंड की गुफा से फुटबॉल टीम को बचाने का काम आसान नहीं होता . पुणे में मुख्यालय वाली कंपनी किर्लोस्कर ब्रदर्स लिमिटेड (KBL) के एक्सपर्ट्स ने थाइलैंड में गुफा में फंसी फुटबॉल टीम के रेस्क्यू ऑपरेशन में टेक्निकल सपॉर्ट दिया था. कंपनी ने मंगलवार को एक बयान जारी कर यह जानकारी दी. कंपनी ने कहा कि थाइलैंड स्थित भारतीय दूतावास ने थाई अधिकारियों को रेस्क्यू ऑपरेशन में KBL की विशेषज्ञता के इस्तेमाल की पेशकश की थी, जिसके बाद कंपनी ने भारत, थाइलैंड और ब्रिटेन से अपने विशेषज्ञों की टीम को मौके पर भेजा.

केबीएल को ‘पानी खाली करने’ में दक्षता हासिल है. कंपनी ने बताया कि 5 जुलाई से ही उसके विशेषज्ञों की टीम थाम लुआंग स्थित गुफा के पास थी और रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान गुफा में पानी कम करने में तकनीकी मदद की. कंपनी ने अपने बयान में कहा कि केबीएल ने उच्च क्षमता के 4 डिवॉटरिंग पंपों को भी उपलब्ध कराने की पेशकश की थी. इन डिवॉटरिंग पंपों को महाराष्ट्र के किर्लोस्करवाड़ी प्लांट से थाइलैंड एयरलिफ्ट करने के लिए तैयार रखा गया था.

बता दें कि थाइलैंड के थाम लुआंग में एक अंडर-16 टीम के 12 खिलाड़ी और उनके एक कोच 23 जून को भारी बारिश के बाद गुफा में फंस गए थे. बच्चों को गुफा से बाहर निकालने में कई देशों ने मदद की. सबसे पहले 4 बच्चे गुफा से बाहर निकाले गए. उसके बाद फिर 4 बच्चों को बाहर निकाला गया. आखिरकार मंगलवार को बाकी बचे 4 बच्चों और उनके कोच को भी सकुशल बाहर निकाल लिया गया.

Leave a Reply