जब हनी में ट्रैप हुए अच्छे अच्छे. पढ़िए ये खास मामले

जब हनी में ट्रैप हुए अच्छे अच्छे. पढ़िए ये खास मामले

नई दिल्ली: सैक्स के लुभावने जाल से बचना आसान नहीं है. वायुसेना के एक अधिकारी का गिरफ्तार होना कोई पहला मामला नहीं है आईएसआई की ओर से पहले भी इस तरह कई अधिकारियों और जवानों का फंसाया जा चुका है. सोशल मीडिया पर आईएसआई अपने जाल बिछाती है और फिर पैसे, विदेश घुमाने के लालच को एवज में गोपनीय जानकारियां बातों ही बातों में हासिल कर लेती है. आपको बताते हैं वो अहम मामले जिनमें हनी ट्रैप में ट्रैप हो गए कई.

वायुसेना के ग्रुप कैप्टन पर आरोप

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के लिए जासूसी करने और उसको गोपनीय दस्तावेज मुहैया कराने के आरोप में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने एयरफोर्स के ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह (51 साल) को दिल्ली से गिरफ्तार किया है. सूत्रों के अनुसार कुछ माह पहले आईएसआई के एक एजेंट ने लड़की बनकर मारवाह से संपर्क किया था.

सांसद वरुण गांधी पर लगा था आरोप

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद वरुण गांधी ने विदेशी एस्कॉर्ट महिलाओं तथा वेश्याओं के साथ खिंचीं उनकी तस्वीरों के ज़रिये ब्लैकमेल किए जाने पर हथियार निर्माताओं को रक्षा मामलों से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां दीं. यह बात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यालय (पीएमओ) को लिखे एक खत में कही गई है. हालांकि वरुण गांधी ने कहा था से कहा, “मैं इतनी हास्यास्पद और बेवकूफाना बात का क्या जवाब दूं.? क्या इन आरोपों का कोई भी सबूत मौजूद है?  इनमें से किसी भी बात का क्या सबूत है?”

पठानकोट में आया था मामला सामने

पठानकोट एयरफोर्स स्टेशन में तैनात एयरमेन सुनील कुमार को एक महिला को गोपनीय जानकारियां ई-मेल करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। सुनील कुमार पैसों के एवज में मीना रैना नाम के एक अकाउंट पर जानकारियां भेज रहा था. पठानकोट एयरबेस की साइबर टीम सुनील कुमार पर लगातार नज़र रखे हुए थी.

सूबेदार भी फंसा था जाल में

सिकंदराबाद में तैनात भारतीय सेना के जवान नायब सूबेदार पाटन कुमार पोद्दार पाकिस्तान की एक महिला जासूस के जाल में फंस गया और लंबे समय तक सेना के अहम राज बताता रहा. जानकारियों के एवज में महिला पाटन कुमार को पैसों के अलावा अपनी न्यूड तस्वीरें और वीडियो भेज रही थी. साथ ही पाटन कुमार को लंदन घुमाने का वायदा भी किया गया था.

मेरठ में भी पकड़ा गया था जासूस

आसिफ सोलह बार पाकिस्तान जाकर आईएसआई से ट्रेनिंग ले चुका था. बारहवीं पास आसिफ बेहद शातिर और कम्प्यूटर का मास्टर है. सेना के कई जवानों का ब्यौरा और उनके मूवमेंट की जानकारियां आसिफ से मिली थीं. आसिफ अपनी शादी से काफी पहले से आईएसआई के लिए काम कर रहा था. उसके एक बेटा और एक बेटी भी है. मेरठ के सुभाष बाजार की स्प्रिंग फैक्ट्री में सुपरवाइजर की नौकरी करने वाले आसिफ के कब्ज़े से सेना के दस्तावेजों में गोपनीय और संवदेनशील सूचनाएं हासिल हुई हैं. यानी आईएसआई अपने हनी ट्रैप में कई जवानों को फंसाने में जुटी है.