वापस हो सकता है बिल्डरों को मिला कंप्लीशन सर्टिफिकेट, 1430 बिल्डरों के खरीदार फंसे

वापस हो सकता है बिल्डरों को मिला कंप्लीशन सर्टिफिकेट, 1430 बिल्डरों के खरीदार फंसे

नोएडा : यमुना अथॉरिटी ने प्रॉजेक्ट पर सही ढंग से काम न करने वाले बिल्डरों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. ऐसे बिल्डरों को अथॉरिटी ने कंप्लीशन सर्टिफिकेट (सीसी) रद्द करने के लिए नोटिस जारी किए हैं. अथॉरिटी ने बिल्डरों को जिन शर्तों पर कंप्लीशन सर्टिफिकेट जारी किए थे उन सभी शर्तो को अभी तक पूरा नहीं किया गया है. जाहिर बात है कि इससे खरीदार फंस जाएंगे. योगी सरकार ने बड़ी संख्या में प्रोजेक्ट पूरे करने और घर दिलाने के वादे तो पूरे कर दिए लेकिन फंसे खरीदार ही.

यमुना अथॉरिटी के सीईओ डॉ़ अरुणवीर सिंह ने बताया कि अथॉरिटी ने बायर्स के हितों को ध्यान में रखते हुए कुछ बिल्डरों को कंडिशनल कंप्लीशन सर्टिफिकेट जारी किए थे. बिल्डरों के प्रॉजेक्ट में जो काम बचा हुआ उस काम को अथॉरिटी की ओर से दिए गए तय समय में करना था. लेकिन कई बिल्डरों ने अभी तक प्रॉजेक्ट में बचा हुआ काम पूरा नहीं किया है.

उन्होंने बताया कि अथॉरिटी के प्लानिंग विभाग की ओर से ग्रीन-वे बिल्डर को 588 और एसडीएस बिल्डरों के 1430 प्लॉट के लिए कंडिशनल कंप्लीशन सर्टिफिकेट जारी किए गए थे. इसमें अथॉरिटी ने बिल्डरों से कहा था कि अपने प्रॉजेक्ट में बायर्स को पजेशन देने से पहले नाली, सीवर, बिजली, स्ट्रीट लाइट, सुरक्षा, पानी, पार्क, स्विमिंग पूल समेत बायर्स से किए वादों को पूरा करना था.

अथॉरिटी के प्लानिंग विभाग की ओर से बिल्डरों को नोटिस जारी कर कहा गया है कि 28 फरवरी तक प्रॉजेक्ट में बायर्स से किए गए वादे के अनुसार सभी सुविधा उपलब्ध नहीं करने पर कंप्लीशन सर्टिफिकेट रद्द कर दिए जाएंगे.