जंगली जानवरों के हमले में 11 लोगों की मौत, तेंदुए ने बच्चे को घर के बाहर से उठाया

जंगली जानवरों के हमले में 11 लोगों की मौत, तेंदुए ने बच्चे को घर के बाहर से उठाया

बहराइच : जिले के कतर्नियाघाट वन्य जीव विहार जंगल से सटे रिहायशी इलाके में तेंदुए ने आठ साल के एक बच्चे को मार डाला. इसके साथ ही इलाके में जंगली जानवरों के हाथों मरने वालों का आंकड़ा 11 के पार चला गया है.

ग्रामीणों के अनुसार जंगल से सटे विशुनापुर गाँव का रहने वाला रोबिन (08) कल शाम स्कूल से लौटकर अन्य बच्चों के साथ खेल रहा था. तभी जंगल से निकले तेंदुए ने उसे दबोच लिया और जंगल में ले गया. शोर मचाते हुए ग्रामीणों ने हांका लगाकर रोबिन को बचाने की कोशिश की लेकिन तब तक तेंदुआ उसकी गर्दन दबा चुका था जिससे बच्चे की जंगल में ही मौत हो गयी.

रेंज अफसर आर. के. पी. सिंह ने बताया कि पीड़ित परिवार को 10 हजार रुपये की तात्कालिक सहायता दी गयी है तथा पोस्टमार्टम के बाद मुआवजा दिलाने की कार्यवाही की जाएगी.

गौरतलब है कि तीन दिन पहले ही तेंदुए के हमले में 17 वर्षीय एक किशोरी की मौत हुई है. अप्रैल 2017 से अब तक मानव वन्यजीव संघर्ष में 11 लोगों की मौत हो चुकी है तथा करीब दो दर्जन लोग घायल हुए हैं.

घटनाओं को लेकर ग्रामीणों में काफी आक्रोश है. ग्रामीणों का आरोप है कि घटनाओं को लेकर वन विभाग बिल्कुल गंभीर नहीं है. इलाके के लोगों का आरोप है कि घटनाओं से ग्रामीणों व बच्चों को बचाने के लिए वन विभाग ने कोई कारगर योजना नहीं बनाई है. ना ही घटना की सूचना देने पर वनकर्मी समय पर घटनास्थल पर पहुंचते हैं.