संजय लीला भंसाली को पद्मावत रिलीज से ठीक पहले भाजपायी झटका, अब कोर्ट भी क्या कर पाएगा

संजय लीला भंसाली को पद्मावत रिलीज से ठीक पहले भाजपायी झटका, अब कोर्ट भी क्या कर पाएगा

नई दिल्ली: फिल्म ‘पद्मावत’ भले ही सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद रिलीज को तैयार है, लेकिन निर्माता संजय लीला भंसाली की मुसीबतें घटने का नाम नहीं ले रही है. रिलीज से ठीक एक दिन पहले बुधवार को मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने कहा कि वे राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश और गोवा में इस फिल्म की स्क्रिनिंग नहीं की जाएगी. इस एसोसिएशन से देश की 75 प्रतिशत मल्टीप्लेक्स मालिक जुड़े हैं. एसोसिएशन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पिछले कुछ समय से थिएटर्स में और उसके बाहर हिंसक घटनाएं और आगजनी हो रही हैं. ऐसे में फिल्म पद्मावत के रिलीज के दिन मल्टीप्लेक्स को इन हिंसा से बचाने के लिए फिल्म का रिलीज नहीं करने का फैसला लिया गया है.

राजस्थान में कानून व्यवस्था को देखते हुए सिनेमा घरों के मालिकों और मल्टीप्लेक्स के मालिकों ने फिल्म को परदे पर नहीं दिखाने का निर्णय लिया है. राजस्थान के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि प्रदेश का एक भी सिनेमाघर फिल्म को दिखाने के लिये तैयार नहीं है. कटारिया ने बुधवार को अलवर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि प्रदेश में एक भी सिनेमाघर ऐसा नहीं है जो फिल्म को दिखाने को तैयार हो. उन्होंने कहा कि जो फिल्म का विरोध कर रहें है उन्हें भी अदालत में जाना चाहिए और इतिहास, समाज और प्रदेश के सम्मान की दृष्टि से अपना पक्ष वहां रखना चाहिए. प्रदर्शनकारियों को कानून हाथ में नहीं लेना चाहिए.

हरियाणा सरकार में मंत्री अनिल विज ने कहा, ‘जनता की भावना को ध्यान में रखते हुए सिनेमाहॉल इस फिल्म की स्क्रिनिंग को तैयान नहीं हैं, हालांकि सुप्रीम कोर्ट का आदेश है इसलिए जो भी जिस भी सिनेमा हॉल में ये फिल्म दिखाई जाएगी उन्हें पूरी सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी.

फिल्म पद्मावती के रिलीज के खिलाफ देशभर के कई राज्यों में हो रहे विरोध प्रदर्शन पर श्रीराजपूत करणी सेना के संरक्षक लोकेन्द्र सिंह कालवी ने कहा कि जो हो रहा है वह दुखद और गलत है, लेकिन इसे कोई नहीं रोक सकता. कालवी ने कहा, ‘मन की ज्वाला है मत टटोलो, जौहर की ज्वाला बहुत कुछ जला देगी. रोको पद्मावती रुक गई, पद्मावत को भी रोको, जल जाएगा देश. मत करो यह पाप. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सड़कों पर आगजनी होने से मैं भी नहीं रोक सकता. कालवी ने कहा, ‘जो भी हो रहा है दुखद है, गलत है, पर अब मन की ज्वाला को सड़कों पर धधकने से कोई रोक नहीं सकता, मैं भी नहीं.’

फिल्म पद्मावत के रिलीज से एक दिन पहले देश के अलग-अलग हिस्सों में करणी सेना के सदस्यों ने विरोध प्रदर्शन किए. कांग्रेस ने पद्मावत फिल्म का विरोध कर रहे लोगों की ओर से स्कूल बसों पर हमला करने को लेकर हरियाणा सरकार पर कानून एवं व्यवस्था कायम रखने में विफल रहने का आरोप लगाया. कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने गुरूग्राम में स्कूली बसों पर हमले को अस्वीकार्य और भर्त्सना योग्य बताया जिसके कारण बच्चों एवं यात्रियों की जान खतरे में पड़ गयी.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘हरियाणा में कानून व्यवस्था का फ़िर दीवाला निकला. गुडगांव में अराजक तत्वों द्वारा अबोध बच्चों की स्कूल बस पर खौफनाक हमला. रोडवेज़ की बस को किया आग के हवाले. शासन-प्रशासन का कहीं नहीं नामोनिशां. बच्चों व बेक़सूर नागरिकों का क्या कसूर ? फिर नाकारा साबित हुई खट्टर सरकार!’ गुरूग्राम में एक नामी स्कूल के करीब 20-25 छात्र उस समय बाल बाल बच गये जब पद्मावत फिल्म का विरोध कर रहे लोगों की उग्र भीड़ ने उनकी बस पर हमला बोला. उस पर पथराव किया. हरियाणा में सोहना सहित कुछ अन्य जगहों पर भी वाहनों पर हमला करने की घटनाएं हुई हैं.