इस भिखारी की हैं तीन बीवियां और दो बिजनेस, साथ ही इज्जत भी

इस भिखारी की हैं तीन बीवियां और दो बिजनेस, साथ ही इज्जत भी

नई दिल्ली:  एक भिखारी महीने भर में कितना कमा लेता है. आप कहेंगे 2 हजार, 3 हजार या ज्यादा से ज्यादा 5 हजार. लेकिन, हम आपको एक ऐसे भिखारी के बारे में बताने जा रहे हैं जो भीख मांगकर महीने में 30 हजार और साल का चार लाख रुपये कमा लेता है.

सिर्फ यही नहीं महंगाई के इस जमाने में इनकी एक-दो नहीं, बल्कि तीन बीवियां हैं. जी हां, इनका नाम है छोटू बैरक. झारखंड के रहने वाले 40 साल के छोटू बैरक दिव्यांग हैं इनके शरीर का निचला हिस्सा काम नहीं करता है.

लेकिन, अपने शरीर की कमजोरियों को इन्होंने अपने लिए अड़चन नहीं बनने दिया. च्रकधरपुर रेलवे स्टेशन पर छोटू बैरक भीख मांगते हैं. भीख मांगने के साथ-साथ छोटू अपना बिजनेस भी चलाते हैं. ये एक कम्पनी के पर्सनल केयर प्रॉडक्ट्स भी बेचते हैं और लोगों को उस कम्पनी का मेम्बर भी बनाते हैं. भीख से मांगे पैसों को ये अपने बिजनेस में लगाते हैं.

vestige identity card of beggar

सिमडेगा जिले में छोटू की एक बर्तनों की भी दुकान है. एक पत्नी दुकान चलाने में इनका हाथ बंटाती है. छोटू बताते हैं, ‘शुरू में मैंने पैसे कमाने की खूब कोशिश की, लेकिन गरीब ही रहा. फिर मैंने भीख मांगनी शुरू किया और अब मैं एक दिन में एक हजार से 1200 रुपये तक कमा लेता हूं.’