बेंगलुरु: नये साल का काउंट डाउन शुरू होते ही भीड़ लड़कियों पर टूट पड़ी

बेंगलुरु: नये साल का काउंट डाउन शुरू होते ही भीड़ लड़कियों पर टूट पड़ी

नई दिल्ली :  2018 का पहला घंटा उस लड़की के लिए सबसे खौफनाक था. भीड़ के बीच आप इस उम्मीद से बे धड़क परिवार की महिलाओं के बीच चले जाते हैं कि वहा किसी बदमाश की हिम्मत नहीं होगी. लेकिन अगर भीड़ ही वहशी बन जाए तो क्या हो ? बैंगलौर में यही हुआ. यहां के ब्रिगेड रोड़ पर पति के साथ घूमने आई महिला से भीड़ ने ना केवल छेड़छाड़ की, बल्कि उसके कपड़े उतारने की भी कोशिश की.

पिछले साल भी बेंगलुरु के एमजी और ब्रिगेड रोड़ पर कई लड़कियां छेड़छाड़ का शिकार हुई थीं. जिसके चलते यहां भारी पुलिस बल तैनात किया गया था. इसके बावजूद ये वारदात हुई .

पुलिस ने पब, रेस्टोरेंट और बार में ख़ासतौर पर निगरानी रखने के बड़े बड़े दावे किए थे. कहा गया था कि  ड्रोन से भी लोगों पर नजर रखी जाएगी. इसके बावजूद कई इलाकों में लड़कियों से छेड़छाड़ की घटना हुई.

महिला के पति ने नामी पत्रिका इंडिया टुडे को बताया कि 2018 के वेलकम के लिए ब्रिगेड रोड़ पर भारी भीड़ उमड़ी थी. लोग 12 बजने का इंतजार कर रहे थे. तभी काउंटडाउन शुरु हुआ और भीड़ बेकाबू होने लगी.

मुझे और मेरी पत्नी को कुछ युवकों की टोली ने घेर लिया और बाकी लड़कियों पर लड़के जबरदस्ती गिरने लगे. हद तो तब हो गई जब उन्होंने एक लड़की की पैंट उतारने के लिए खींचतान शुरु की और उसके कपड़ों के अंदर हाथ डालने लगे.

पुलिस भीड़ को काबू करने की कोशिश कर रही थी. जब उसकी नजर हम पर पड़ी तो उन्होंने हमें खींचकर वहां से बाहर निकाला. मेरी पत्नी के साथ जो हुआ वो मैं बता नहीं सकता. इस मामले में मैं पुलिस में शिकायत दर्ज करूंगा.

मैं और मेरी पत्नी इस घटना से बेहद आहत है. भीड़ ने और भी कई लड़कियों से छेड़छाड़ की है. लेकिन ना कोई रिपोर्ट दर्ज हुई है और ना ही कोई सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध है.