‘आप’ के उम्मीदवार एनडी गुप्ता का बीजेपी कनैक्शन ! नामांकन रद्द होने के आसार

‘आप’ के उम्मीदवार एनडी गुप्ता का बीजेपी कनैक्शन ! नामांकन रद्द होने के आसार

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के राज्यसभा उम्मीदवार एनडी गुप्‍ता का नामांकन रद्द हो सकता है. कांग्रेस पार्टी ने इसके लिए बाकायदा नामांकन कार्यालय में सबूतों के साथ शिकायत की है.

कांग्रेस दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने अपनी शिकायत में कहा है कि नारायण दास गुप्ता 30 मार्च 2015 को नेशनल पेंशन सिस्टम ट्रस्ट के ट्रस्टी नियुक्त किए गए थे और अभी तक वो इस पद को संभाल रहे हैं. माकन ने दावा किया कि ये लाभ का पद है इसलिए मामला ऑफिस ऑफ प्रॉफिट का बनता है.  ऐसे में जनप्रतिनिधि कानून के तहत एनडी गुप्ता का राज्यसभा सीट के लिए किया गया नामांकन रद किया जाना चाहिए.

शुक्रवार को पार्टी के प्रदेश कार्यालय में माकन ने पत्रकारों से कहा – आम आदमी पार्टी भाजपा की ‘बी’ टीम है और उसके कहने पर ही वह काम करती है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के चहेते मंत्री सत्येंद्र जैन के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय व आयकर विभाग के नोटिस और पार्टी को मिले चंदे को लेकर आयकर विभाग के नोटिस से जब केजरीवाल डर गए, तो उन्होंने भाजपा के इशारे पर उसके चहेते और जीएसटी समर्थक नारायणदास गुप्ता को राज्यसभा के लिए चुना है.

माकन ने यह भी कहा था कि नारायणदास गुप्ता के पुत्र नवीन एनडी गुप्ता ने एक जुलाई 2016 को इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में जीएसटी के समर्थन के लिए चार्टर्ड अकाउंटेंट का सम्मेलन किया था, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा वित्त मंत्री अरुण जेटली भी मौजूद थे. नवीन चार्टर्ड अकाउंटेंट संस्था के निर्वाचित अध्यक्ष हैं, जो मार्च में पदभार ग्रहण करेंगे.

केंद्र सरकार ने 18 सितंबर 2015 को एनडी गुप्ता को 1.20 लाख करोड़ के नेशनल पेंशन सिस्टम ट्रस्ट (एनपीएस ट्रस्ट) का ट्रस्टी तथा ऑडिट कमेटी का चेयरमैन भी नियुक्त किया था. उन्होंने कहा कि इन तथ्यों से साफ जाहिर है कि एनडी गुप्ता को भाजपा ‘आप’ से दिल्ली में राज्यसभा का सदस्य बनवा रही है.

प्रेस वार्ता के दौरान माकन ने आप उम्मीदवार सुशील गुप्ता को लेकर भी बड़ा खुलासा किया था. उन्होंने कहा कि बीते 28 नवंबर को जब सुशील गुप्ता कांग्रेस से इस्तीफा देने उनके पास आए थे, तो सुशील ने बताया था कि उन्हें दिल्ली से राज्यसभा भेजा जाएगा. तब मैंने सुशील से कहा कि मुझे नहीं लगता है और यह संभव नहीं है, तो सुशील ने कहा कि सबकुछ तय है.

माकन ने कहा कि पार्टी के गठन के समय केजरीवाल ने दावा किया था कि उनकी पार्टी में पारदर्शिता होगी, आंतरिक लोकतंत्र होगा और भ्रष्टाचार भी नहीं होगा, लेकिन ये आदर्श उनकी पार्टी में नहीं दिख रहे हैं.

दिल्ली से आम आदमी पार्टी के तीनों उम्मीदवारों की राज्यसभा सीटें पक्की मानी जा रही हैं. शुक्रवार को राज्यसभा की तीन सीटों के लिए नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख थी और किसी ने भी ‘आप’ उम्मीदवारों के खिलाफ नामांकन नहीं किया है. तीनों उम्मीदवारों का निर्विरोध चुना जाना तय हो चुका है.

आज नामांकन पत्रों की छंटनी की प्रक्रिया पूरी होने के बाद 8 जनवरी को नाम वापस लेने की अंतिम तारीख है. तीनों सीटों पर वोटिंग की तारीख 16 जनवरी है.