न के बराबर हो गया नंबर पोर्ट कराने का खर्च, ट्राई ने की बड़ी कटौती

न के बराबर हो गया नंबर पोर्ट कराने का खर्च, ट्राई ने की बड़ी कटौती

नई दिल्ली :  जो लोग रिलायंस जियो के लिए पोर्ट कराने की तैयारी में लगे हैं उनका काम अब ट्राई ने आसान कर दिया है. रिलायंस जियो ही नहीं किसी भी मोबाइल अब पोर्ट कराना आसान होगा. सिर्फ जियो ही नहीं किसी भी ऑपरेटर के पास जाना अब सस्ता कर दिा गया है.  अन्य टेलीकॉम कंपनी में मोबाइल नंबर पोर्ट कराने के लिए अब आपसे सिर्फ चार रुपए लिए जाएंगे. टेलीकॉम रेग्युलेट्री अथॉरिटी ऑफ इंडिया (ट्राई) ने सोमवार को इसके लिए परामर्श प्रक्रिया की रकम को घटाने का ऐलान किया है.

अभी तक नंबर पोर्ट कराने के लिए परामर्श प्रक्रिया शुल्क के तौर पर उपभोक्ताओं से 19 रुपए लिए जाते थे. लेकिन अब इस रकम में 80 फीसद की गिरावट की गई है.

ट्राई ने इस बारे में कहा है कि तीन जुलाई 2015 से मोबाइल नंबर पोर्टिंग को लेकर आने वाले आवेदनों की भारी संख्या को देखते हुए और मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी सेवा मुहैया कराने वालों के आर्थिक परिणामों को देखते हुए 19 रुपए अधिक हैं.

ट्राई का कहना है, “प्राधिकरण ने फैसला लिया है कि मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी के लिए लिया जाना वाले शुल्क घटाया जाना चाहिए, क्योंकि मोबाइल नंबर पोर्ट कराने में संचालन की लागत वास्तव में कम हुई है.” मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी से जुड़े ड्राफ्ट में नंबर पोर्ट कराने के लिए नई दर चार रुपए तय की गई है. इस मामले पर 29 दिसंबर 2017 तक लोगों से उनकी प्रतिक्रियाएं मांगी गई हैं.