राहुल गांधी बोले भद्दी भाषा मोदी बोलते है हम नहीं, अय्यर माफी मांग लें

राहुल गांधी बोले भद्दी भाषा मोदी बोलते है हम नहीं, अय्यर माफी मांग लें

नई दिल्ली : कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज मणिशंकर अय्यर के बयान का समर्थन तो नहीं किया लेकिन साफ कह दिया कि ऐसी भद्दी बयान बाज़ी बीजेपी वाले करते हैं.   राहुल गांधी अय्यर की टिप्‍पणी पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि ‘बीजेपी के नेता और प्रधानमंत्री लगातार कांग्रेस पर हमला करने के लिए गलत और घटिया भाषा भाषा का इस्‍तेमाल करते हैं.

कांग्रेस पार्टी में अलग तरह की परंपरा और विरासत रही है. हम ऐसी भाषा में यकीन नहीं रखते. मैं पीएम मोदी को संबोधित करने के लिए मणिशंकर अय्यर द्वारा इस्‍तेमाल की गई भाषा और तरीके का समर्थन नहीं करता. कांग्रेस और मैं दोनों चाहते हैं कि जो भी उन्‍होंने कहा उसके लिए वो माफी मांगें.’

हालांकि विवाद बढ़ता देख मणिशंकर अय्यर ने इस पर सफाई दी और कहा कि मुझे अच्छे से हिंदी नहीं आती. अगर इसका मतलब हिंदी में ऐसा होता है तो मैं माफी मांगता हूं.

उधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मणिशंकर अय्यर की टिप्‍पणी पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए एक और चालबाज़ी की  मणिशंकर अय्यर ने पीएम को नीच कहा था लेकिन मोदी ने उसमें जाति जोड़ दी. उन्होंने कहा- ‘श्रीमान मणिशंकर अय्यर ने कहा कि मोदी तो ‘नीच’ जाति का है. मोदी तो नीच है. यह गुजरात का अपमान है, भारत की महान परंपरा का अपमान है. अरे ये तो मुगलई मानसिकता है, ऊंच नीच का संस्‍कार हिंदुस्‍तान में नहीं है.’

मंणिशंकर अय्यर ने कहा था कि अंबेडकर जी की सबसे बड़ी ख्‍वाहिश को जवाहर लाल नेहरू ने ही साकार किया. इस परिवार के बारे में कैसी गंदी बात कही जबकि अंबेडकर जी की याद में एक इमारत का उद्घाटन हो रहा था. यहां मुझे लगता है कि ये आदमी बहुत नीच किस्‍म का आदमी है. इसमें कोई सभ्‍यता नहीं है, ऐसे मौके पर कोई इस गंदी राजनीति की क्‍या आवश्‍यकता है.