राहुल गांधी ने अपनी विधायक से ज्यादा सिपाही को दी अहमियत, मंगवाई माफी

राहुल गांधी ने अपनी विधायक से ज्यादा सिपाही को दी अहमियत, मंगवाई माफी

शिमला : राहुल गांधी एक के बाद एक अपनी राजनीतिक छवि को चमकाते जा रहे हैं. हाल का मामला बेहद रोचक है . राहुल गांधी ने अपनी पार्टी की पंजाब की प्रभारी और हिमाचल प्रदेश की कांग्रेस विधायक आशा कुमारी के मुकाबले एक महिला कांस्टेबल का साथ दिया क्योंकि वो सही थी. राहुल गांधी ने इस विधायक को फटकार लगाई और आखिर उसे एक मामूली कांस्टेबल से माफी मांगनी पड़ी.

उन्होंने कहा, ”हम लोग राहुल गांधी जी के साथ एयरपोर्ट से आए थे. गेट पर अव्यवस्था थी, कुछ लोग अंदर जाने के लिए जबर्दस्ती कर रहे थे. मैंने अपना पास दिखाया इसके बाद भी मुझे शटअप करके धक्का जैसा दिया गया. मैंने जानबूझ कर नहीं किया बस त्वरित प्रतिक्रिया में हाथ चल गया. ऐसा हुआ इसके लिए मैं माफी मांगती हूं. मैं इस विवाद को आगे नहीं ले जाना चाहती.”

क्या है पूरा मामला?

प्रदेश में हार के कारणों की समीक्षा करने के लिए राहुल गांधी शिमला स्थित कांग्रेस कार्यालय पहुंचे थे. आशा कुमारी उनके पीछे थीं इसी बीच कांस्टेबल के साथ उनकी बहस होने लगी. उन्होंने गुस्से में कांस्टेबल को चांटा मार दिया.

इसके बाद जो हुआ उन्हें इसकी उम्मीद नहीं रही होगी. उस कांस्टेबल ने भी बदले में उन्हें चांटा मार दिया. आशा कुमारी डलहौज़ी से चुनाव जीती हैं और पंजाब कांग्रेस की प्रभारी हैं.

हिमाचल पुलिस ने विधायक आशा कुमारी के खिलाफ शिमला के सदर थाने में केस दर्ज कर लिया है. विधायक के खिलाफ आईपीसी की धारा 332, 353 के तहत केस दर्ज किया गया है.