सोशल मीडिया का इस्तेमाल समाज को बांटने में न करें : ओबामा

सोशल मीडिया का इस्तेमाल समाज को बांटने में न करें : ओबामा

नई दिल्ली: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने सोशल मीडिया के गैर-जिम्मेदाराना इस्तेमाल को लेकर चिंता जाहिर की और भविष्य के खतरों के प्रति सावधान किया. उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया का गैर-जिम्मेदाराना इस्तेमाल समाज में भेदभाव बढ़ता है, जिसके फलस्वरूप समाज विभाजित हो जाता है. ओबामा की इस टिप्पणी को उनके परवर्ती और अमेरिका के मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की आलोचना के रूप में देखा जा रहा है, क्योंकि ट्रंप बहुधा ट्वीटर का इस्तेमाल करते हैं.

ओबामा बीबीसी के रेडियो फॉर टुडे कार्यक्रम के लिए एक साक्षात्कार में ब्रिटेन के प्रिंस हैरी से बातचीत कर रहे थे. उन्होंने इस बात को लेकर सावधान किया कि इंटरनेट से लोगों के पूवार्ग्रह को बल मिल रहा है और समाज बिखर रहा है. उन्होंने कहा, “हमें वैसे तरीके तलाशने होंगे, जिससे इंटरनेट पर एक कॉमन स्पेस दोबारा बनाया जा सके.” उन्होंने भविष्य को लेकर चिंता जाहिर की और कहा कि तथ्यों को नजरंदाज किया जा रहा है और लोग सिर्फ उन्हीं बातों को पढ़ते व सुनते हैं, जिनसे उनका अपना ही मत प्रबल होता है.

ओबामा ने कहा, “इंटरनेट का सबसे बड़ा खतरा यह है कि लोग बिल्कुल अलग यथार्थ में होंगे. उनको सूचना से अलग रखा जा सकता है और उनके मौजूदा पूवार्ग्रह को मजबूत किया जा सकता है.” साक्षात्कार के दौरान ओबामा ने ट्रंप का नाम नहीं लिया, लेकिन उन्होंने ट्रंप के चुनावी अभियान और बतौर राष्ट्रपति उनके प्रशासन की खासियत का जिक्र ट्वीटर के मुखर प्रयोग के रूप में किया.

साक्षात्कार के दौरान ओबामा से जब यह पूछा गया कि राष्ट्रपति के रूप में कार्यकाल समाप्त होने पर कायार्लय छोड़ने के दिन वह कैसा महसूस कर रहे थे? तो उन्होंने मिला-जुला भाव जाहिर किया. ओबामा ने कहा, “एक समाप्ति का बोध था कि हमने इस तरीके से काम किया था, जिससे निष्ठा बनी हुई थी और हम मौलिक रूप से नहीं बदले थे. इसलिए मुझे संतोष का अनुभव हो रहा था.”ओबामा ने अमेरिका की पूर्व प्रथम महिला मिशेल ओबामा को प्रभावशाली, विनोदी और स्नेही बताया, जिन्होंने राजनीतिक अभिरुचि नहीं होते हुए भी उन्हें भरपूर सहयोग दिया.