खतरनाक : जब पीएम मोदी का काफिला रास्त भटक कर खतरे के बीच पहुंच गया

खतरनाक : जब पीएम मोदी का काफिला रास्त भटक कर खतरे के बीच पहुंच गया

नोएडा: क्रिसमस के दिन मजेन्टा लाइन मेट्रो का उद्घाटन करने नोएडा आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले का रास्ता भटकने और इस कारण उनकी सुरक्षा में ‘चूक’ होने के मामले में एक सब इंस्पेक्टर और एक कांस्टेबल को सस्पेंड किया गया. ये दोनों प्रधानमंत्री के काफिले में आगे पायलट गाड़ी पर सवार थे. हालांकि जब प्रधानमंत्री का काफिला एमिटी यूनिवर्सिटी से वापस बोटैनिकल गार्डन के पास बने हेलीपैड के लिए जा रहा था तो काफिला पायलट गाड़ी की गलती के चलते सर्विस लेन की बजाय एक्सप्रेसवे पर आ गया. इसके बाद करीब 2 मिनट के लिए पीएम जाम में फंस गए थे. इसके बाद ट्रैफिक रोककर उनके काफिले को तुरंत निकाला गया. घटना की जांच एसपी सिटी नोएडा कर रहे हैं.

पुलिस अधीक्षक लव कुमार ने बताया कि सोमवार दोपहर 2.35 मिनट पर प्रधानमंत्री का काफिला एक्सप्रेस-वे के सर्विस रोड से होते हुए बोटैनिकल गार्डन की तरफ जा रहा था. रास्ते में उनके काफिले में आगे चल रहे एन्टी डेमो वाहन का चालक निर्धारित रास्ते से पहले आने वाले कट से एक्सप्रेस-वे पर चढ़ गया. उस रास्ते पर प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिहाज से सुरक्षा बलों की तैनाती नहीं की गई थी. उन्होंने कहा, जैसे ही प्रधानमंत्री का काफिला रास्ता भटक कर निर्धारित रूट से पहले एक्सप्रेस-वे पर चढ़ा. पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए उधर से आ रहे वाहनों को आनन-फानन में रोका और प्रधानमंत्री के काफिले को आगे रवाना किया.

अधिकारी ने बताया कि इस मामले की जांच नगर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार को सौंपी गई थी. जांच में एन्टी डेमो वाहन के चालक और उसके प्रभारी उपनिरीक्षक इस गलती के दोषी मिले हैं. कुमार ने बताया कि पुलिस अधीक्षक की ओर से मिली रिपोर्ट के आधार पर दोषी पुलिस वालों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही की जा रही है. उन्होंने कहा कि रास्ता भटकने की वजह से प्रधानमंत्री का काफिला करीब दो मिनट तक रूका रहा. प्रधानमंत्री के साथ चल रहे प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने काफिले का रास्ता भटकने की घटना पर सख्त नाराजगी जताई थी.