बीजेपी की देशभक्ति पर गंभीर सवाल, इसके बाद किस मुंह से वंदेमातरम् बोलेगी पार्टी ?

बीजेपी की देशभक्ति पर गंभीर सवाल, इसके बाद किस मुंह से वंदेमातरम् बोलेगी पार्टी ?

अहमदाबाद: चुनाव के आगे काजल की कोठरी भी कुछ नहीं. चुनाव लड़ने का मतलब है कि आगे पीछे के सारे रिकॉर्ड खुलकर सामने आ जाते हैं. जो अतीत आप खुद भूल चुके होते हैं चुनाव वो भी याद दिला देते हैं. गुजरात चुनाव से बीजेपी के देशप्रेम के सारे कपाट खुल गए हैं. मोदी ने मणिशंकर अय्यर पर पाकिस्तान से सुपारी लेने का आरोप लगाया तो कांग्रेस ने सारे बहीखाते खोल दिए. उसने ये सवाल सामने रखे हैं जिनका जवाब बीजेपी के लिए देना बेहद मुश्किल होगा. अगर पार्टी इसका जवाब नहीं देती तो वंदे मातरम् का मुद्दा भविष्य में किस मुंह से उठाएगी.

पहला आरोप

कांग्रेस ने मोदी के सबसे अजीज राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के पुत्र शौर्य डोभाल पर एक पाकिस्तानी के साथ साझेदारी में व्यापार करने का आरोप लगाया है. कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि शौर्य डोभाल का बिजनेस पार्टनर सईद अली अब्बास पाकिस्तान का है. जबकि उसका दूसरा पार्टनर सऊदी अरब से है. उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता हर बार उग्रवाद, राष्ट्रीय सुरक्षा और देश की अखंडता को एकजुट रखने के मामले में फेल साबित हुए हैं. बीजेपी कहती कुछ है और करती कुछ. भाजपा वोट बटोरने के लिए बड़ी बड़ी बातें करती है लेकिन उसका पाकिस्तान प्रेम जगजाहिर है .

दूसरा आरोप

कांग्रेस ने सवाल किया कि आतंकवादी दाऊद इब्राहिम की पत्नी किन परिस्थितियों में 2016 में पाकिस्तान से मुंबई आयी और कैसे बिना परेशानी के वापस चली गयी. उसके खिलाफ कोई एक्शन क्यों नहीं हुआ. लेकिन उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गयी. उन्होंने सवाल किया कि महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष और मंत्री एकनाथ खडसे को दाऊद इब्राहिम से बातचीत के कारण पद से हाथ धोना पड़ा.

तीसरा आरोप

सुरजेवाला ने जम्मू कश्मीर में आसिया अंदराबी को बेटी बचाओ अभियान की ब्रांड एम्बेसडर बनाने पर भी सवाल उठाया. आसिया वो महिला है जो बात बात पर पाकिस्तान का झंडा फहराती है और खुले आम भारत का विरोध करती है. कांग्रेस ने पूछा

चौथा आरोप

कांग्रेस का आरोप है कि जम्मू कश्मीर में आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद उसके परिवार को नौकरी और मुआवजे की पेशकश क्यों की गयी थी, उन्होंने कहा कि भाजपा को जुमलों की जगह सवालों का जवाब देने की जरुरत है.

पांचवा आरोप

25 दिसंबर 2015 को प्रधानमंत्री मोदी को अटल  बिहारी बाजपेयी के जन्मदिन में शामिल होना था. मोदी ने वादा किया था कि वो अटल जी से मिलने जाएंगे. लेकिन मोदी ने अचानक कार्यक्रम रद्द कर दिया. वजह बेहद अजीब थी. अपने जिगरी दोस्त और पाकिस्तान के प्रधानमत्री नवाज शरीफ की बेटी की शादी में वो अचानक पहुंच गए.  अटलजी इंतज़ार करते रह गए.

छठा आरोप

नरेनद्र मोदी भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई को भारत के सैनिक महत्व के पठानकोट एयरबेस का दौरा करवाय और उन्हें उन प्रतिबंधित क्षेत्रों में जाने दिया जहां भारत के आम लोगों को जाने की इजाजत नहीं है.

अहमद पटेल मामले पर पलटवार

गुजरात के मुख्यमंत्री पद को लेकर पाकिस्तान के अधिकारियों के साथ कांग्रेस के नेताओं की बैठक होने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि भाजपा को आधारहीन आरोप नहीं लगाना चाहिये. गुजरात की हार से वे बौखला गये हैं. पद की गरिमा के विपरीत अर्नगल आरोप लगाने लगे हैं.