नोएडा में बिल्डरों से जुड़े मामलों पर बीजेपी में असंतोष, मंत्रिमंडल समूह पर सेेटिंग का शक

नोएडा में बिल्डरों से जुड़े मामलों पर बीजेपी में असंतोष, मंत्रिमंडल समूह पर सेेटिंग का शक

नई दिल्ली : नोएडा ग्रेटर नोएडा में बिल्डरों पर एक्शन के मामले में बीजेपी के मंत्रिमंडल समूह के ऊपर गंभीर आरोप लगे हैं. सूत्रों के मुताबिक खुद बीजेपी के एक विधायक ने ये आरोप लगाए है. कि मंत्रिमंडल समूह बिल्डर के साथ नरमी बरत रहा है.

हालात ये हैं कि बीजेपी के अंदर नेता इसको लेकर नाराज़ हैं. यहां तक कि एक विधायक ने धीरेन्द्र सिंह ने बाकायदा ट्वीट किया कि कुछ लोग जनभावनाओं के विपरीत काम कर रहे हैं और इसकी रिपोर्ट जल्द ही सीएम योगी आदित्यनाथ को सौंपी जाएगी.

दरअसल सीएम योगी ने वादा किया था कि 12 दिसंबर तक 50000 फ्लैट्स का पजेशन दे दिया जाएगा लेकिन ऐसा हो न सका. मंत्रिमंडल समूह ने इसके लिए बिल्डरों को दोषी ठहराया. मामले में बिल्डरों को धमकाने के लिए एक बयान दिया गया कि नोएडा के 8 बिल्डरों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

इस खबर में न तो बिल्डरों का नाम बताया गया न ये बताया गया कि उनके खिलाफ कहां मामला दर्ज किया गया है. यानी अंधी धमकी. ये समझ नहीं आया कि बिना केस दर्ज करे कोई किसी को कैसे गिरफ्तार कर सकता है.

लेकिन बीजेपी के अंदरूनी सूत्रों का कहना है कि ये सारी कोशिशें सिर्फ नाकामी से ध्यान भटकाने के लिए हो रही हैं. एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि मंत्रिमंडल समूह के कुछ सदस्य जनभावनाओं के विपरीत काम कर रहे हैं. इन नेताओं को शक है कि मंत्रिमंडल समूह के कुछ लोगों को बिल्डरों ने सेट कर लिया है. यही वजह है कि समूह नोएडा के उपभोक्ताओं से जुड़े मामलों में भी सुनवाई भी दिल्ली में कर रहा है.

बहरहाल जो भी हो मामला बिगड़ता जा रहा है और हर बयान का मतलब एक ही है कि उपभोक्ताओं को हितों से ज्यादा ज़रूरी दूसरी चीज़ें हैं. बयान हो रहे हैं , गुटबाज़ी हो रही है लेकिन काम नहीं हो रहा.