बार बार झल्ला रहे हैं अमित शाह, गुस्से मेें इंटरव्यू बीच में छोड़ा, सामने आने से बच रहे हैं कार्यकर्ता

बार बार झल्ला रहे हैं अमित शाह, गुस्से मेें इंटरव्यू बीच में छोड़ा, सामने आने से बच रहे हैं कार्यकर्ता

अहमदाबाद : अब तक एक के बाद एक जीत से लगातार बीजेपी को अश्वमेघ विजय दिला रहे अमितशाह आजकल परेशान है. वो अमितशाह परेशान हैं जो देश में कांग्रेस मुक्त भारत की बात कर रहे थे. शाह जबरदस्त दबाव में हैं और उनका गुस्सा बार बार बाहर फूट पड़ता है.

टेलीग्राफ के अनुसार शनिवार को हद ही हो गई जब अमित शाह को एक इंटरव्यू के दौरान तेज़ गुस्सा आया कि वो बीज में ही इंटरव्यू छोड़कर उठ गए. अहमदाबाद बीजेपी के कार्यालय के लोगों के मुताबिक बाहर अमित शाह बहुत ही बेकार मूड में दिखाई दे रह हैं. काफी समय से बीजेपी प्रवक्ता अमित शाह द्वारा बताए गए गुजरात चुनाव में पार्टी को मिलने वाली जीत के आंकड़ों को दोहराते रहे हैं लेकिन वे यह भी स्वीकार करते हैं कि इस बार का चुनाव पार्टी के सामने बहुत ही चुनौतीपूर्ण है।

ऐसा लगता है कि अमित शाह भी इससे वाकिफ हैं इसलिए उन्होंनें बार बार मीडिया रिपोर्ट को गंभीरता से न लेने की सलाह दी. उन्होंने कहा कि मीडिया क्या कहता है इससे जनता परेशानी नहीं होती है। बीजेपी 150 सीट जीतेगी। पार्टी नेताओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़े गुजराती गर्व और मतदाताओं को सचेत रहने के लिए कहा गया है।

पार्टी नेताओं से कहा गया है कि सर नहीं झुकना चाहिए (मोदी को शर्मिंदा मत करना)। टेलीग्राफ का कहना है कि मोदी की रैलियों से पार्टी को कोई प्रतिक्रिया मिलती दिखाई नहीं दे रही है। वहीं अमित शाह बैकरूम मैनेजमेंट पर अपना ध्यान अधिक केंद्रित कर रहे हैं। पार्टी द्वारा वरिष्ठ नेताओं से लेकर निचले स्तर के नेताओं को गुजरात की हर जगह पर चुनावों के माइक्रो-मैनेजमेंट के लिए तैनात किया गया है।

वहीं पाटीदार नेता हार्दिक पटेल द्वारा किए गए आंदोलन से बीजेपी सकते में आ गई है। अपनी तरफ लोगों की भारी भीड़ इकट्ठा जुटाने में लगे हार्दिक पटेल ने सार्वजनिक तौर पर शाह को चुनौती देते हुए उन्हें जनरल डायर बताया, जिसने जलियावाला बाघ में हुई गोलीबारी के निर्देश दिए थे। पाटीदार आंदोलन पर बात करते हुए अमित शाह ने कहा आरक्षण के लिए पाटीदार आंदोलन केवल भ्रम पैदा कर रहा है। वहीं शाह ने हार्दिक पटेल पर कोई भी कमेंट करने से इनकार कर दिया।

खबर ये भी है कि हार्दिक पटेल को बार बार घेरने की कोशिश हो रही है. उनका हौसला कम करने के लिए उनके खिलाफ सीडी कांड को खोलने की कोशिश हुई. महिला आयोग की टीम बिना शिकायत के ही गुजरात पूछताछ करने के लिए आ गई वहीं हार्दिक पटेल पर पत्थर फेंक कर उन्हें डराने की कोशिश की गई.