अमेरिकी अरबपतियों को बड़ी टैक्स छूट, कॉर्पोरेट टैक्स 35 से 20 फीसदी

अमेरिकी अरबपतियों को बड़ी टैक्स छूट, कॉर्पोरेट टैक्स 35 से 20 फीसदी

नई दिल्ली:  सरकारें कैसे अमीरों के लिए काम करती हैं और किस तरह अपने आम लोगों को बेवकूफ बनाती हैं. इसका उदाहरण ये खबर हैं. हम भारत से इस खबर को समझ पा रहे हैं लेकिन अमेरिका में लोगों को समझा दिया गया है कि उनकी ज़िंदगी बदलने वाली है. अमेरिकी सीनेट ने शनिवार को टैक्स में कटौती के अहम प्रस्ताव को पास कर दिया है.

इस प्रस्ताव में अमीरों को टैक्स में बड़ी राहत दी गई है.  1980 के बाद हुए इस बदलाव के बाद बडे कारोबारियों को अब कम टैक्स देना प़़डेगा. कॉर्पोरेट टैक्स दर को 35 से घटाकर 20 प्रतिशत कर दिया गया है. यानी सीधे 15 फीसदी की छूट.

इसे डोनाल्ड ट्रंप और उनकी रिपब्लिकन पार्टी की ब़़डी जीत के रूप में देखा जा रहा है. सीनेट में यह बिल 49 के मुकाबले 51 वोटों से पारित हुआ. सरकार कह रही है कि इससे मध्यम वर्ग के लोगों को भी इससे आंशिक फायदा मिलेगा. कैसे मिलेगा इसके लिए कहानियों का अंबार है लेकिन ये पक्का है कि सरकार अपने नुकसान की भरपाई बाकी लोगों से पैसे लेकर करेगी.

अमेरिका का शेयर बाजार कई महीनों से टैक्स कटौती का इंतजार कर रहा था. इसके बाद अमेरिकी कंपनियां यहां के व्यापार में अधिक पूंजी लगा सकेंगी. अमीरों को टैक्स में बड़ी राहत देने के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने आम लोगों पर एहसान किया. प्रस्ताव पास होने के बाद ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘हम कामकाजी परिवारों को टैक्स में राहत देने के एक कदम और नजदीक आ गए हैं.’ सीनेट में रिपब्लिकन नेता मिच मैककॉनेल ने कहा, ‘हमारे पास अमेरिका को फिर से प्रतियोगी बनाने का मौका है. अब विदेशियों को मिलने वाली नौकरियां भी हमारे पास रह सकेंगी.’

ऐसी हवा हवाई कहनियों के बीच लूट की एक और छूट अमेरिका में दे दी गई है. भारत की सरकार ऐसे देशों का अनुसरण करती है. कहीं यहां भी… फिलहाल अभी टैक्स में कटौती का ट्रंप का प्रस्ताव लागू नहीं हो रहा है. इस विषय पर सीनेट और हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव से पारित दोनों प्रस्तावों की बातों को जो़डते हुए एक विधेयक बनाना होगा. इसके बाद इसे दोबारा दोनों सदनों से पारित कराना होगा. तब जाकर यह कानून बन सकेगा.