कार्लगर्ल रैकेट की महारानी सोनू पंजाबन ने इस बार किया सबसे घिनौना काम, गिरफ्तार

कार्लगर्ल रैकेट की महारानी सोनू पंजाबन ने इस बार किया सबसे घिनौना काम, गिरफ्तार

नई दिल्ली :  कार्लगर्ल सिंडीकेट चलाने वाली सोनू पंजाबन ने इस बार इतना घिनौना काम किया जो बेदह शर्मनाक है. सोनू पंजाबन जिस्म के कारोबार की दिल्ली की सबसे बदनाम शख्शियत मानी जाती है. सोनू पंजाबन का असली नाम गीता अरोड़ा है. पुलिस का आरोप है कि सोनू ने इस बार उसे 16 साल की किशोरी को अगवा किया और उससे जबरदस्ती देह व्यापार करवाया.

सोनू के सलाखों के पीछे पहुंचने का कारण इस बार एक लड़की बनी. पुसिल के अनुसार, अगस्त 2014 में 16 साल की एक लड़की अपने घर के पास से संदिग्ध हालात में गायब हो गई थी. परिजनों ने इसकी सूचना नजफगढ़ थाना पुलिस को दी. इसके बाद अपहरण का मामला दर्ज कर जांच आरंभ की गई. काफी तलाश करने के बाद भी किशोरी का कुछ पता नही चल सका. इसके बाद 2017 के शुरुआती महीनों में मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई. पुलिस मामले की जांच कर ही रही थी कि जून 2017 में अगवा किशोरी किसी तरह से बदमाशों के चंगुल से छूटकर घर पहुंची. उसने अपनी आपबीती घरवालों को बताई.

पीड़िता ने बताया कि घर के पास से ही दो युवकों ने उसे जबरन अगवा कर लिया था. बाद में उन्होंने उसे खुद को सोनू पंजाबन बताने वाली महिला के सामने पेश किया. पीड़िता के मुताबिक, काफी समय तक सोनू ने उसे बंधक बनाकर उससे वेश्यावृत्ति करवाई. बाद में लखनऊ के एक दलाल को बेच दिया गया. किशोरी गर्भवती हुई तो उसे गर्भपात कराने के लिए भी कहा गया. किसी तरह किशोरी वहां से भागकर अपने घर पहुंची.

मामले में सोनू पंजाबन का नाम सामने आते ही पुलिस उसके नेटवर्क को खंगालने में जुट गई. इस दौरान टेक्निकल सर्विलांस के जरिए पुलिस को पता चला कि सोनू पंजाबन किसी से मिलने के लिए दरियागंज आने वाली है. इसके बाद पुलिस ने सोनू को मौके से दबोच लिया.

उसे शनिवार देर रात कमला मार्केट थाने लाया गया. वहां हवालात में बंद करने को लेकर उसने खूब हंगामा भी किया. दिल्ली में कुछ वर्ष पहले तक सोनू पंजाबन देह व्यापार के बाजार में सबसे बड़ा नाम मानी जाती रही है .