खट्टर के हरियाणा में घर से उठाकर कक्षा-1 की बच्ची से दरिंदगी, लकड़ी डालकर हत्या

खट्टर के हरियाणा में घर से उठाकर कक्षा-1 की बच्ची से दरिंदगी, लकड़ी डालकर हत्या

नई दिल्ली :  एक पांच साल की मासूम बच्ची जो ठीक से बोल तक नहीं सकते है उस बच्ची को उठाकर कुछ वहशी दरिंदे अपने साथ ले गई. पूरी हैवानियत, बर्बरता और जालिमाना हरकत के साथ उस बच्ची से रेप किया गया और उसके बाद उस मासूम के प्राइवेट अंग में लकड़ी के साथ कई बार वार किया गया. इस बीच लड़की तड़पती रही मदद के लिए पुकारती रही लेकिन कोई नहीं आया. बच्ची की हत्या उस हरियाणा में हुई है जहां के मुख्यमंत्री दिन रात बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की रट लगाए रहते हैं और जिन्हें उनकी ही पार्टी की केन्द्र सरकार बेटियों को बढ़ाने के लिए तमगे देती रही है.

मामले की जांच बताती है कि हरियाणा में पुलिस से सिर्फ शरीफ लोग डरते हैं. इस बच्ची को दरिंदे बाकायदा घर से उठाकर ले गए. शुरुआती जांच  के मुताबिक बच्ची की के प्राइवेट पार्ट में लकड़ी डालने से उसके गर्भाशय और आंत के हिस्से बेहद बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में  बच्ची के कंधों, कमर और नाक पर भी जख्म के निशानों का भी जिक्र है. बच्ची की गर्दन से भी खून निकल रहा था. शनिवार की सुबह जब परिवार वाले जागे और बच्ची को नहीं पाया तब उन्हें बच्ची के गायब होने का पता चला. तभी एक स्थानीय व्यक्ति ने उन्हें बताया कि उनके घर से कुछ ही दूरी पर एक बच्चे का शव खून में लथपथ पड़ा हुआ है.

हिसार पुलिस SP ने मामले की जांच के लिए SIT गठित करने का आदेश दे दिया है. गांववाले इस बर्बर घटना के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन पर बैठ गए हैं और पुलिस से तत्काल कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. विरोध स्वरूप गांववालों ने सभी दुकानें बंद कर दी हैं और सड़क भी जाम कर दिया है.

बच्ची के परिवार वालों ने भी चेतावनी दी है कि जब तक आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता, तब तक वे बच्ची के शव का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे. पुलिस ने फोरेंसिक टीम भी मौके पर भेज दी है. अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ अपहरण, रेप और हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है.

चूंकि मामला हरियाणा का है तो इस बात का भी डर है कि पुलिस धरना प्रदर्शन, दबाव और मीडिया रिपोर्ट के कारण किसी बेकसूर को न फंसा दे.