भक्तों से सावधान रहने में ही भलाई, अपने दोस्त को ही मोदी के चक्कर में पहुंचा दिया जेल

नई दिल्ली :  दो लोग अपनी व्यक्तिगत बातचीत में तीसरे शख्स के लिए अगर कुछ कहते हैं तो सावधान रहें. खासतौर पर वो दोस्त किसी नेता  का ज्यादा ही दीवाना हो. राजनीतिक पागलपन के इस दौर में वो आपको जेल भी पहुंचा रकता है. अब तो  संवाद सार्वजनिक रूप से न भी हो तो भी आप फंस सकते हैं.  पीएम के लिए दो लोग आपस मे कोई बात करते हैं तो वो भी गुनाह की श्रेणी में आ गया है.  फेसबुक चैट के दौरान तमिलनाडु के एक युवक को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपशब्द कहने के कारण जेल भेज दिया गया. इस युवक की उम्र सिर्फ 19 साल है.

तमिलनाडु के विरुधुनगर के एसपी एम राजाकराजन ने कहा कि बीजेपी जिला सचिव के मरीमुत्थू  इस लड़के की शिकायत लेकर थाने पहुचे थे. उसे सोमवार को श्रीविल्लीपुत्थूर से पकड़ा गया था. वह इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कर चुका है.

थिरुमुरुगन और मरीमुत्थू के बीच एक प्राइवेट बातचीत में यह टिप्पणी की गई थी. दोनों फेसबुक पर दोस्त हैं. मीदी भक्त मरीमुत्थू ने थिरुमुरुगन को फेसबुक मैसेंजर पर दक्षिण भारत के हीरो विजय की फिल्म मर्सल के विवादित डायलॉग की आलोचना वाला एक मेमे भेजा था, जिसके जवाब में थिरुगुरुगन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संदर्भ में अश्लील भाषा का इस्तेमाल किया. इसके बाद भक्त नेता ने व्यक्तिगत बातचीत को पुलिस को दिखा दिया. पुलिस ने केस दर्ज कर लिया.

अंग्रेजी में हुई इस बातचीत का मरीमुत्थू ने फोटो लेकर पुलिस में शिकायत दर्ज कर दी. गौरतलब है कि फिल्म मर्सल में मोदी सरकार की नीतियों की आलोचना करने के कारण विवाद पैदा हो गया था. थिरुमुरुगन ने कहा कि वह विजय का फैन है और उसने बातचीत के दौरान अपशब्दों का इस्तेमाल किया था.

राजाराजन ने कहा कि युवक पर आईटी एक्ट 2000 की धारा 67, सीआरपीसी की धारा 505 लगाए गए हैं. थिरुमुरुगन को 18-22 आयु वर्ग के किशोर अपराधियों की मेलूर में जेल भेजा गया था ये वही प्रधानमंत्री है जो अपनी युवावस्था में प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के लिए चार चवन्नी थाली में इंदिरा गांधी नाली में जैसे नारे लगाते रहे होंगे. लेकिन उनके खिलाफ आपसी बातचीत में बातें करने भी गुनाह हो गया है.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें