मध्य प्रदेश में दर्ज हुआ अनोखा रेप केस, इस मामले में लड़की नहीं सिर्फ एक फेसबुक पोस्ट है

मध्य प्रदेश में दर्ज हुआ अनोखा रेप केस, इस मामले में लड़की नहीं सिर्फ एक फेसबुक पोस्ट है

नई दिल्ली : इसे आपातकाल कहिए या हंसने वाली खबर लेकिन एमपी की शिवराज सरकार की इस हरकत ने एक  पत्रकार को रेप के आरोप में बुक कर दिया है. रेप भी ऐसा जिसमें कोई महिला ही नहीं है. सरकार खुद कहती है कि कोई बलात्कार किसी के साथ नहीं हुआ. लेकिन फिर भी बाकायदा कोतवाली थाने मे धारा 376/117 292, 505 (2), 67( क) में मुकदमा कायम कर दिया गया है.

दरअसल पत्रकार महोदय ने सरकार के उस फैसले की आलोचना कर दी जिसमें रेप का पाड़ित महिला को पद्मावती अवार्ड देने की बात कही गई थी. सरकार को अच्छा नहीं लगा और रेप का केस दस्ज कर दिया. मामला मध्य प्रदेश के नीमच का है और रेप का केस दर्ज हुआ है पत्रकार जिनेन्द्र सुराणा पर.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एसपी डी कल्याण चक्रवर्ती ने बाकायदा इसके लिए प्रेस कांफ्रेंस की उन्होंने बडी शान से बताया कि 24 नवम्बर को नीमच निवासी जिनेन्द्र सुराना ने फेसबुक पर एक विवादित पोस्ट डाली. पोस्ट में लिखा गया था – “मध्यप्रदेश में रेप करवाओ और पद्मावती अवार्ड पाओ सरकार की नई घोषणा”

इधर इस मामले मे रेप का केस रजिस्टर हो रहा है दूसरी तरफ संजय लीला भंसाली और रोहित सरदाना को कत्ल करने के फतवे सरेआम जारी हो रहे हैं. यहां तक कि चैनल बाकायदा उन्हें प्रमुखता से बार बार प्रसारित भी कर रह हैं .

एसपी डी कल्याण चक्रवर्ती ने बताया कि सोशल मीडिया फेसबुक पर की गई इस विवादित पोस्ट से महिलाओं का मान भंग करने का दुष्प्रेणा मानते हुए कोतवाली थाने मे धारा 376/117 292, 505 (2), 67( क) के तहत प्रदेश मे सम्भत: पहला प्रकरण दर्ज किया गया है.