आधार कार्ड बनवाए बगैर मर गए तो नहीं मिलेगा मोक्ष, जानिए ये कानून

आधार कार्ड बनवाए बगैर मर गए तो नहीं मिलेगा मोक्ष, जानिए ये कानून

फरीदाबाद : बीजेपी शासित राज्यों में जितने अफलातूनी प्रयोग हो रहे हैं उतने किसी और राज्य में होते तो शायद चुटकुलों से सोशल मीडिया भर जाता. क्या आप कल्पना कर सकते है कि अगर कोई शख्स आधार कार्ड के बिना मर जाए तो उसका मोक्ष भी नहीं होगा. जी हां खट्टर सरकार में इस बात का पूरा इंतजाम कर दिया गया है. अगर आपने मोदी से सपनों का प्रोजेक्ट आधार में हिस्सा लेकर आधार कार्ड नहीं बनवाया तो आपका अंतिम संस्कार नहीं होगा. जब अंतिम संस्कार नहीं होगा तो मोक्ष कैसे मिलेगा.

पुराना फरीदाबाद के खेड़ी रोड स्थित स्वर्गाश्रम में बाकायदा प्रबंधन ने बोर्ड लगाकर सचेत किया है- मृतक का आधार कार्ड लाना जरूरी है, नहीं तो संस्कार नहीं होगा- आदेशानुसार फरीदाबाद नगर निगम.

शुक्रवार सुबह सेक्टर-17 निवासी संदीप सिंघल के पिता राजाराम सिंघल के अंतिम संस्कार पर खेड़ी रोड स्थित स्वर्गाश्रम में एकत्र शहरवासियों ने जब यह बोर्ड देखा तो कई प्रबुद्ध नागरिकों ने इस आदेश की कानूनी वैधता की जानकारी ली.

 

हालांकि इसी दौरान स्वर्गाश्रम का प्रबंधन देख

 

रही फरीदाबाद वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान आरपी बतरा ने लोगों को बताया कि यदि लोग मृतक का विवरण रजिस्टर में सही दर्ज करा देते हैं तो आधार कार्ड अनिवार्य नहीं है. उन्होंने कहा कि बिना आधार भी अंतिम संस्कार करने दिया जाता है.

बतरा के अनुसार अब तक किसी का अंतिम संस्कार रोका नहीं गया है मगर अक्सर ऐसा होता है कि गमगीन माहौल में लोग मृतक का नाम पूरा नहीं लिखवाते या फिर उनका पता या पिता का नाम गलत लिखवा देते हैं. इससे उन्हें नगर निगम में मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने में परेशानी होती है और वे लोग फिर से स्वर्गाश्रम में हुए संस्कार की पर्ची पर नाम व पता ठीक कराने आते हैं. इससे स्वर्गाश्रम प्रबंधन को काफी परेशानी होती है.

लेकिन ऐसा है तो आधार कार्ड की अनिवार्यता का बोर्ड लगाने की क्या जडरूरत थी. इससे भी ज्यादा नगर निगम का आदेश नहीं था तो उसका नाम क्यों लिखा गया.

स्वास्थ्य अधिकारी, नगर निगम, फरीदाबाद आनंद स्वरूप का कहना है कि फरीदाबाद नगर निगम ने अंतिम संस्कार में आधार की अनिवार्यता संबंधी कोई आदेश जारी नहीं किया है. खेड़ी रोड स्थित स्वर्गाश्रम के बोर्ड में जो अनिवार्यता की बात लिखी है उसे ठीक कराया जाएगा. आधार अनिवार्य नहीं बल्कि सही विवरण देना अनिवार्य होना चाहिए.