एमपी की हर सीट पर चुनाव लड़ेंगे केजरीवाल, कुछ इस अंदाज़ में करेंगे ‘कंस मामा’ का मुकाबला?

नई दिल्ली : पंजाब और गोवा के बाद अब अरविंद केजरीवाल मध्यप्रदेश में धमाका करने की तैयारी में हैं. उन्होंने आज एलान कर दिय कि एक साल बाद होने वाले विधानसभा चुनाव में ‘आप’ मध्य प्रदेश की सभी 230 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. केजरीवाल ने पूछा कि क्या आप को मध्य प्रदेश में चुनाव लड़ना चाहिए? फिर पूछा कि क्या हमें सभी सीटों पर चुनाव लड़ना चाहिए?

केजरीवाल ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर तंज कसते हुए उन्हें ‘कंस मामा’ करार दिया और कहा कि उन्होंने पिछले 15 सालों में राज्य को आम की तरह चूस लिया है. दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा, ‘करीब 15 साल से मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की सरकार है. 15 साल बहुत होते हैं, लेकिन इन 15 सालों में शिवराज ने कोई एक अच्छा काम किया है तो बताओ. मध्य प्रदेश में टीचर्स खुश हैं क्या, स्टूडेंट खुश हैं क्या , महिलाएं, किसान, आदिवासी, व्यापारी खुश हैं क्या? मध्य प्रदेश का बच्चा-बच्चा दुखी है.’

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में भी यही हाल था, 15 साल शीला दीक्षित की सरकार रही, लोग दुखी थे. दिल्ली के लोगों ने तय किया कि कांग्रेस-बीजेपी की जुगलबंदी को तोड़ना है केजरीवाल ने कहा कि आज दिल्ली के लोग बहुत खुश हैं. उन्होंने दावा किया कि ढाई साल में दिल्ली के अंदर जितने काम हुए उतने काम 70 साल में किसी भी शहर में नहीं हुए.

‘आप’ संयोजक केजरीवाल ने कहा कि मध्य प्रदेश की चर्चा होने पर सबसे पहले दिमाग में व्यापम घोटाला आता है. शिवराज ने राज्य के 8 करोड़ लोगों का अपमान किया. व्यापम घोटाले में 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई. भ्रष्टाचार छुपाने के लिए जवान लड़के-लड़कियों का कत्ल कर दिया गया. पूरा मध्य प्रदेश पूरी दुनिया में भ्रष्टाचार के लिए जाना जाता है.

जबकि दिल्ली में ‘आप’ की सरकार पूरी दुनिया के अंदर अपनी ईमानदारी के लिए जानी जाती है. केजरीवाल ने कहा कि हमारे विरोधी भी ‘आप’ की ईमानदारी की कसम खाते हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी की केंद्र सरकार में सेंट्रल विजिलेंस कमिशन ने सर्वे कराया उसमें निकलकर कर आया कि बीजेपी की केंद्र सरकार में 67 पर्सेंट करप्शन बढ़ गया और दिल्ली की आप सकार में 81 पर्सेंट करप्शन कम हो गया है.

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली मध्य प्रदेश से भी बिजली खरीदती है तो बिजली कहां सस्ती होनी चाहिए? उन्होंने कहा कि तब भी दिल्ली में बिजली मध्य प्रदेश से सस्ती है. मध्य प्रदेश में जहां 200 यूनिट बिजली का बिल 1370 रुपये आता है वहीं 200 यूनिट का दिल्ली में 462 रुपये का बिल आता है. उन्होंने रैली में मौजूद लोगों से पूछा कि क्या ‘आप’ मध्य प्रदेश में भी सस्ती बिजली चाहते हैं? केजरीवाल ने कहा कि ‘आप’ की सरकार ने दिल्ली में सरकारी स्कूलों की हालत में जबर्दस्त सुधार किया है.

लोग प्राइवेट स्कूलों से अपने बच्चों को निकालकर सरकारी स्कूल में दाखिला दिला रहे हैं. साथ ही सरकारी अस्पतालों में किए गए सुधार का भी जिक्र किया.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें